ट्रंप की डब्ल्यूटीओ को धमकी, कही ये बड़ी बात कि…

International
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप शुरू से ही अमेरिका के लिए रक्षात्मक नीतियां अपनाते रहे हैं और अब उन्हें लगता है कि विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) उनके देश के साथ गलत बर्ताव कर रहा है। ट्रंप ने कड़ा रुख अपनाते हुए धमकी दी है कि यदि डब्ल्यूटीओ ने अमेरिका के साथ अपना रवैया नहीं बदला तो अमेरिका इससे बाहर हो जाएगा।
डब्ल्यूटीओ की स्थापना विश्व व्यापार के नियम बनाने और विभिन्न देशों के बीच व्यापारिक विवादों को सुलझाने के लिए हुई थी। लेकिन ट्रंप को लगता है कि उसकी नीतियों की वजह से अमेरिका में हर देश अपना सामान तो खपा देता है लेकिन अमेरिका को विदेशों में पर्याप्त बाजार नहीं मिल पाता है।

ब्लूमबर्ग को दिए एक इंटरव्यू में ट्रंप ने कहा कि यदि यह संगठन हमारी शर्तों पर खरा नहीं उतरता है तो हम इससे बाहर आने की सोच सकते हैं। बता दें कि अगर अमेरिका ने भविष्य में इस पर फैसला लिया तो पूरी दुनिया का कारोबार सिस्टम प्रभावित हो जाएगा।

ट्रंप ने कहा कि अमेरिका ने डब्ल्यूटीओ के लिए बहुत कुछ किया है लेकिन उसकी नीतियां हमारे खिलाफ हैं। उन्होंने कहा कि मुझे नहीं पता कि हम उसमें क्यों शामिल है। ट्रंप ने कहा, डब्ल्यूटीओ को सिर्फ इसलिए बनाया गया है ताकि अमेरिका को बर्बाद किया जा सके। हालांकि वित्तमंत्री ने कहा कि ट्रंप प्रशासन ने फिलहाल डब्ल्यूटीओ से बाहर निकलने पर कोई विचार नहीं किया है।

ट्रंप नीतियों व मुक्त व्यापार व्यवस्था में विरोधाभास
अमेरिकी राष्ट्रपति की डब्ल्यूटीओ से हटने की धमकी बताती है कि उनकी व्यापारिक नीतियों और मुक्त व्यापार व्यवस्था में विरोधाभास है। इस बीच अमेरिका ने विश्व व्यापार संगठन की विवाद निवारण व्यवस्था के दो जजों के चुनाव का रास्ता रोक दिया है। इसका असर संगठन द्वारा फैसले सुनाने की क्षमता पर पड़ना तय है।

Source: Purvanchal media