लड्डू गोपाल की ड्रेस बनाने के लिए IIFT से ली ट्रेनिंग, अब यूपी मे बड़ी मांग

National

बरेली: द्वापर युग से आज तक भगवान कृष्ण के चाहने वालों की कमी नहीं है। हर युग में  भगवान कृष्ण को उनके चाहने वालों  ने अपने तरीके से  भगवान कृष्ण के प्रति स्नेह व्यक्त किया। मीरा ने अपने प्यार  को दिखाने के लिए विष  पीकर अपने प्यार की परीक्षा दी थी। ऐसी ही बरेली में कृष्णा  की दीवानी है वह बोल और सुन तो नहीं सकती पर अपनी कला से  भगवान कृष्ण के लिए प्यार जरूर व्यक्त कर सकती है। इस कृष्ण भक्त का नाम निधि सक्सेना है।

यह भी पढ़ें: मेरठ में नकल कराने वाले गिरोह का भंडाफोड, 7 गिरफ्तार

निधि के पिता सिंचाई विभाग में इंजीनयर के पद पर तैनात है। निधि जन्म से बोल और सुन तो नहीं सकती है लेकिन उसके हाथ में गजब का हुनुर है। निधि अपने बचपन से कृष्ण भगवान से विशेष लगाव है। निधि ने जब से होश संभाला  उसने हर जन्माष्टमी पर भगवान कृष्ण के लिए पोषाक बनाना शुरू कर दी।

आज निधि के हाथ से बनाई गई पोशाक बरेली शहर के अधिकतर मंदिर में पहनाई जाती है। निधि के परिवार वालों के अनुसार निधि के हाथ से बनाई गयी ड्रेस की मांग बरेली के साथ देश के कई हिस्सों में है। आमतौर पर बरेली मंडल के लोगों का निधि के घर पर आना आम है। लोगों की पहली पसंद लडडू गोपाल की पोशाक रहती है।

निधि बोल तो नहीं पाती है लेकिन उसके घर वाले किसी तरह की कोई कमी नहीं छोड़ती  है। निधि की मां निधि के साथ हाथ बाँटती है। निधि इस काम के लिए केवल लागत लेती है। निधि की मां  रीना सक्सेना का यह भी  कहना है कि निधि काम करने में बहुत कुशल है उसने भगवान की पोशाक बनाने के लिए आईएफटी से बाकायदा ट्रेनिंग ली है।

निधि के कला की मुरीद प्रियंका सक्सेना बताती है वह हर साल जन्माष्ठमी के लिए निधि से ड्रेस तैयार करवाती है। प्रियंका का यह भी  कहना है कि निधि का भगवान श्री कृष्ण के प्रति लगाव उसके काम को खास करता है।निधि कीे मां को अपनी बेटी पर नाज है।

रीना मानती है भगवान ने उसे आवाज नहीं देकर हाथ का हुनुर दिया है। इससे अच्छी क्या बात  हो सकती है उनकी बेटी के हाथ के बने भगवान स्वंय कपड़े पहनते है। निधि की मां मानती है कि जन्माष्टमी उनके परिवार  लिए हमेशा खास रहती है इस  बार निधि खुद भगवान को कपड़े अर्पण करेंगी।

The post लड्डू गोपाल की ड्रेस बनाने के लिए IIFT से ली ट्रेनिंग, अब यूपी मे बड़ी मांग appeared first on Newstrack Hindi.

Source: Hindi Newstrack