कृष्णाष्टमी: कान्हा रुप है मनमोहक, फिर हम सब इस तरह सजा कर और बढ़ा दें रौनक

National

जयपुर:कृष्ण जन्माष्टमी  का पर्व पूरे भारत में 3 सितम्बर को मनाया जाएगा। यह दिन श्री कृष्णोत्सव के लिए हैं। जिस तरह हमसब अपने जन्मदिन पर सजते-संवरते हैं उसी तरह इस दिन लड्डू गोपाल को सजाया जाता हैं और ठाकुरजी के लिए नए-नए कपडे और मुकुट लाए जाते हैं। इस दिन बाल गोपाल का रूप बहुत ही मनमोहक लगता हैं। इसलिए बाजारों में मिल रही कुछ ऐसी चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनकी मदद से कान्हा जी को संजा सकते हैं।

*ठाकुर जी की पोशाक में पटका, फूलों के वस्त्र, कुंदन, जरी और गोटापत्ती से सजी पोशाकें भी हैं। ये सभी पोशाक हर रंग और छोटे बड़े हर साइज में बाजार में मिल जाएंगी। इसके अलावा विभिन्न आकार के झूले भी काफी डिमांड में हैं।

*गोपाल के स्वागत के लिए मयूर सिंहासन, पुष्प सिंहासन काफी पसंद किया जा रहा हैं। वहीं चांदी, अष्टधातु व पंचधातु के गोपालजी भी हैं। बांसुरी, जूतियां, पिचकारी, कान्हा के गहनों भी दुकानों पर उपलब्ध हैं।

फ्रिज में ना रखें गूंथा आटा, नहीं तो आएगी आफत, मिलेगी भूतों को दावत

*ठाकुर जी के श्रृंगार के लिए बाजार में फूलों के गहने हैं। कान्हा के लिए गुलाब का टियारा भी गहनों में एकदम नया है। हाथों का फूलों वाला गजरा भी मार्केट में उपलब्ध है। मुकुट की जगह केवल गुलाब के फूलों से बना टियारा ठाकुरजी को पहनाकर उनका श्रृंगार कर सकते हैं। मोती, कुंदन, मिरर के गहने भी उपलब्ध हैं। घर पर ही छोटा सा फूलबंगला और मोती बंगला सजा सकते हैं। बाजार में तैयार फूल बंगला, मोती बंगला है, जिसमें ठाकुर जी को विराजमान करना है। ठाकुर जी के आकार के अनुसार ही छोटे-बड़े बंगले भी हैं। इनकी कीमत 250 रुपये से शुरू है।

*जन्माष्टमी पर कान्हा की झांकी सजाने के लिए बाजार में गाय, बछडे़, गोप ग्वालों के कटआउट भी हैं। ग्वालों के साथ खेलते हुए कृष्ण कन्हैया, गोपियों संग रास रचाते कन्हैया, कान्हा और माता यशोदा, गायों के साथ कन्हैया जी झांकी आसानी से इन कटआउट के जरिए सजा सकते हैं। इनकी शुरूआती कीमत 20 रुपये है।

बाजार में पंचधातु, अष्टधातु के भी लड्डूगोपाल हैं। भक्त स्वेच्छानुसार अलग-अलग धातु के ठाकुरजी लेते हैं। जीरो नंबर से लेकर 10 नंबर के बड़े आकार के ठाकुर जी हैं। वहीं कई तरह के झूले आप मार्केट से खरीद सकते हैं।

The post कृष्णाष्टमी: कान्हा रुप है मनमोहक, फिर हम सब इस तरह सजा कर और बढ़ा दें रौनक appeared first on Newstrack Hindi.

Source: Hindi Newstrack