18वें एशियाई खेलों का हुआ समापन, IND ने किया अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन

National

नई दिल्ली: मुक्केबाज अमित पांघल और ब्रिज में पुरूष युगल जोड़ी के स्वर्ण पदकों के दम पर भारत ने एशियाई खेलों में अब के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के साथ अपने अभियान का शानदार अंत किया। कांस्य पदक के मुकाबले में भारतीय पुरूष हॉकी टीम ने चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को हराकर फाइनल में ना पहुंच पाने की पनी टीस को कम किया, जबकि महिला स्क्वॉश टीम को फाइनल में हारने के कारण रजत पदक से संतोष करना पड़ा।

भारत ने इन खेलों में 15 स्वर्ण, 24 रजत और 30 कांस्य पदक सहित कुल 69 पदक जीते। एशियन गेम्स के इतिहास में यह भारत का अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। इससे पहले भारत का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 2010 में ग्वांग्झू एशियाई खेलों में था, जब उसने 14 स्वर्ण सहित 65 पदक जीते थे।

भारत ने स्वर्ण पदक के लिहाज से 1951 में दिल्ली में हुए एशियाई खेलों की बराबरी की। तब भी भारत ने 15 स्वर्ण पदक अपने नाम किए थे।

बॉक्सिंग में अमित पांघल ने एशियाई चैम्पियन को हराकर जीता स्वर्ण     
भारत ने प्रतियोगिता के आखिरी दिन भी अपना स्वर्णिम अभियान जारी रखा। पहले अमित (49 किग्रा) ने मौजूदा ओलंपिक रजत पदक विजेता और एशियाई चैंपियन हसनब्वॉय दुस्तामातोव को हराकर सोने का तमगा हासिल किया। जबकि इसके बाद पहली बार इन खेलों में शामिल किये गये ब्रिज के पुरूष युगल स्पर्धा में प्रणब बर्धन और शिबनाथ सरकार ने स्वर्ण पदक जीता।

सेना के 22 वर्षीय अमित एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाले कुल आठवें भारतीय मुक्केबाज बने। 18वें एशियन गेम्स के फाइनल में पहुंचने वाले एकमात्र भारतीय मुक्केबाज थे। उन्होंने प्रबल दावेदार दुस्तामातोव को 3-2 से हराया। उन्होंने इस तरह से पिछले साल विश्व चैंपियनशिप में उज्बेकिस्तान के इस मुक्केबाज से मिली हार का बदला भी चुकता कर दिया।

https://platform.twitter.com/widgets.js

एशियन गेम्स में पहली बार शामिल ब्रिज खेलों में भारत ने जीता स्वर्ण पदक 
अमित ने बाद में कहा, ‘मैं इससे पहले उससे हार गया था इसलिए मैंने बदला चुकता कर दिया। कोच सैंटियागो (नीवा) और अन्य कोच ने मुझे अच्छी तरह से तैयार किया था। सेमीफाइनल में मैं पहले राउंड में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाया था लेकिन यहां मैंने कोई गलती नहीं की।’ भारत को अप्रत्याशित स्वर्ण पदक ब्रिज खेल में मिला जिसमें पहला स्थान हासिल करके 60 वर्षीय प्रणब भारतीय दल में पदक जीतने वाले सबसे उम्रदराज व्यक्ति भी बन गये।

उन्होंने और 56 वर्षीय शिबनाथ ने फाइनल्स में 384 अंकों के साथ शीर्ष स्थान हासिल किया। इस भारतीय जोड़ी ने चीन के लिक्सिन यांग और गांग चेन (378 अंक) को पीछे छोड़कर सोने का तमगा हासिल किया। जाधवपुर विश्वविद्यालय में शिक्षक सरकार ने कहा, ‘मैं कल रात सो नहीं पाया था और नाश्ते में मैंने केवल फल खाये। यह कड़ा था। तनाव से रक्तचाप भी बढ़ता है। हमने चीन और सिंगापुर को हराया। यह हमारे लिये बहुत अच्छा परिणाम है।’

ये भी पढ़ें…एशियन गेम्स 2018: निशानेबाज़ी में मेरठ के शार्दुल ने देश को दिलाई चांदी

हॉकी में चिर प्रतिद्वंदी पाकिस्तान को हराकर भारत ने जीता कांस्य पदक 
भारत की दो अन्य जोड़ियां हालांकि अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पायी। सुमित मुखर्जी और देबब्रत मजूमदार की जोड़ी 333 अंक लेकर नौवें जबकि सुभाष गुप्ता और सपन देसाई 306 अंक के साथ 12वें स्थान पर रहे। हॉकी में सेमीफाइनल में मलेशिया से हार के बाद आलोचनाएं झेल रही भारतीय पुरूष टीम ने पाकिस्तान पर 2-1 से जीत दर्ज करके सुनिश्चित किया कि वह खेलों से बैरंग स्वदेश नहीं लौटेगी। आकाशदीप सिंह ने मैच के तीसरे मिनट में ही गोलकर भारत का खाता खोला।

हरमनप्रीत सिंह ने मैच के 50वें मिनट में गोल कर भारतीय बढ़त को दोगुना कर दिया। पाकिस्तान के लिए एकमात्र गोल मुहम्मद अतीक ने किया। स्क्वॉश में भारतीय महिला टीम फाइनल में हांगकांग से हार गयी और इस तरह से उसे लगातार दूसरी बार रजत पदक से संतोष करना पड़ा। सुनन्या कुरूविला और भारत की नंबर एक जोशना चिनप्पा अपने एकल मैच गंवा बैठी। भारत की यह हांगकांग के हाथों तीन दिन के अंदर दूसरी हार है।

18वें एशियन गेम्स में भारत के स्वर्ण पदक विजेता खिलाड़ी
बजरंग पूनिया: रेसलिंग (मेंस फ्रीस्टाइल 65 किग्रा)
विनेश फोगाट: रेसलिंग (विमेंस फ्रीस्टाइल 50 किग्रा)
सौरभ चौधरी: शूटिंग (मेंस 10 मीटर एयर पिस्टल)
राही शरनोबत: शूटिंग (विमेंस 25 मीटर पिस्टल)
स्वर्ण सिंह, दत्तू बब्बन भोकानाल, ओम प्रकाश, सुखमीत सिंह: नौकावन (मेंस क्वाड्रुपल स्कल्स)
रोहन बोपन्ना, दिविज शरण: टेनिस (मेंस डबल्स)
तजिंदर पाल सिंह तूर: एथलेटिक्स (मेंस शॉट पुट)
नीरज चोपड़ा: एथलेटिक्स (मेंस जवेलिन थ्रो)
मंजीत सिंह: एथलेटिक्स (मेंस 800 मीटर)
अर्पिंदर सिंह: एथलेटिक्स (मेंस ट्रिपल जम्प)
स्वप्ना बर्मन: एथलेटिक्स (विमेंस हेप्टाथलन)
जिनसन जॉनसन: एथलेटिक्स (मेंस 1500 मीटर)
एमआर पूवम्मा, सरिताबेन गायकवाड, हिमा दास, विस्मैया: एथलेटिक्स (विमेंस 4×400 मीटर रिले)
अमित पांघल: बॉक्सिंग (मेंस लाइटवेट फ्रीस्टाइल 49 किग्रा)
भारत की पुरुष ब्रिज टीम ने जीता स्वर्ण पदक

18वें एशियन गेम्स में भारत के रजत पदक विजेता खिलाड़ी
दीपक कुमार: शूटिंग (मेंस 10 मीटर एयर राइफल)
लक्ष्य शेरोन : शूटिंग (मेंस ट्रैप)
संजीव राजपूत: शूटिंग (मेंस 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशंस)
शार्दुल विहान: शूटिंग (मेंस डबल ट्रैप)
भारत की महिला कबड्डी टीम ने जीता रजत पदक
फवाइ मिर्जा: एक्वेस्ट्रियन (व्यक्तिगत स्पर्धा)
फवाद मिर्जा, राकेश कुमार, आशीष मलिक, जितेंद्र सिंह: एक्वेस्ट्रियन (टीम स्पर्धा)
हिमा दास : एथलेटिक्स (विमेंस 400 मीटर)
मुहम्मद अनस: एथलेटिक्स (मेंस 400 मीटर)
दुती चंद:  एथलेटिक्स (विमेंस 100 मीटर)
धरुण अय्यासामी: एथलेटिक्स (मेंस 400 मीटर हर्डल्स)
सुधा सिंह: एथलेटिक्स (विमेंस 3000 मीटर स्टीपलचेज)
नीना वराकिल: एथलेटिक्स (विमेंस लॉन्ग जंप)
मुस्कान किरार, मधुमिता कुमारी, ज्योति सुरेखा वेन्नम: तीरंदाजी (विमेंस टीम कंपाउंड)
अभिषेक वर्मा, रजत चौहान, अमन सैनी: तीरंदाजी (मेंस टीम कंपाउंड)
पीवी सिंधु: बैडमिंटन (विमेंस सिंगल्स)
जिनसन जॉनसन: एथलेटिक्स (मेंस 800 मीटर)
पिंकी बलहारा: कुराश (विमेंस 52 किग्रा)
राजीव अरोकिया, मुहम्मद अनस, हिमा दास, एमआर पुवम्मा: एथलेटिक्स (मिक्स्ड 4×400 मीटर)
दुती चंद: एथलेटिक्स (विमेंस 200 मीटर)
धरुण अय्यासामी, कुन्हू मोहम्मद, राजीव अरोकिया, मुहम्मद अनस: एथलेटिक्स (मेंस 4×400 मीटर रिले)
स्वेता शेरवेगर, वर्षा गौतम: सेलिंग (49 एफएक्स विमेन)
भारत की महिला हॉकी टीम ने जीता रजत पदक
भारत की महिला स्क्वॉश टीम ने जीता रजत पदक

ये भी पढ़ें…एशियन गेम्स: चोट के कारण दांव पर लग गया था करियर, ‘राही’ ने ऐसे जीता गोल्ड

18वें एशियन गेम्स में भारत के कांस्य पदक विजेता खिलाड़ी:
रवि कुमार, अपूर्वी चंडेला: शूटिंग (10 मीटर एयर ​मिक्स्ड टीम इवेंट)
अभिषेक वर्मा: शूटिंग (मेंस 10 मीटर एयर पिस्टल इवेंट)
सेपक टाकरा में भारत की पुरुष टीम ने जीता कांस्य पदक
दिव्या काकरन: रेसलिंग (68 किग्रा विमेंस फ्रीस्टाइल)
रोशिबिना नाओरेम: वुशू (60 किग्रा विमेंस सैंडा)
संतोष कुमार: वुशू (56 किग्रा मेंस सैंडा)
सूर्य भानु प्रताप सिंह: वुशू (60 किग्रा मेंस सैंडा)
नरेंद्र अग्रवाल: वुशू (65 किग्रा मेंस सैंडा)
अंकिता रैना: टेनिस (विमेंस सिंगल्स)
भारत की पुरुष टीम ने कब​ड्डी में जीता कांस्य पदक
दुष्यंत चौहान: नौकायन (मेंस लाइटवेट सिंगल स्कल्स)
रोहित कुमार, भगवान सिंह: नौकायन (मेंस लाइटवेट डबल्स स्कल्स)
हिना सिद्धू: शूटिंग (विमेंस 10 मीटर एयर पिस्टल)
प्रजनेश गुणेश्वरन: टेनिस (मेंस सिंगल्स)
दीपिका प​ल्लीकल: स्क्वॉश (विमेंस सिंगल्स)
जोशना चिनप्पा: स्क्वॉश (विमेंस सिंगल्स)
सौरव घोषाल :स्क्वॉश (मेंस सिंगल्स)
भारत की पुरुष ब्रिज टीम ने जीता कांस्य पदक
भारत की मिश्रित टीम ने ब्रिज में जीता कांस्य पदक
साइना नेहवाल: बैडमिंटन (विमेंस सिंगल्स)
भारत की पुरुष टीम ने टेबल टेनिस में जीता कांस्य पदक
मालप्रभा जाधव : कुराश (विमेंस 52 क्रिगा)
अचंत शरत कमल, मनिका बत्रा : टेबल टेनिस (मिक्स्ड डबल्स)
पीयू चित्रा: एथलेटिक्स (विमेंस 1500 मीटर)
सीमा पूनिया : एथलेटिक्स (विमेंस डिस्कस थ्रो)
हर्षिता तोमर : सेलिंग (ओपन लेसर 4.7)
वरुण ठक्कर, गणपति चेनगप्पा: सेलिंग (49 मेंस)
भारत की पुरुष स्क्वॉश टीम ने जीता कांस्य पदक
विकास कृष्ण यादव : बॉक्सिंग (मेंस मिडिलवेट 75 किग्रा)
भारत की पुरुष हॉकी टीम ने जीता कांस्य पदक

ये भी पढ़ें…एशियन गेम्स 2018: पिता ने जमीन गिरवी रखकर बेटे को बनाया गोल्ड मेडलिस्ट

The post 18वें एशियाई खेलों का हुआ समापन, IND ने किया अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन appeared first on Newstrack Hindi.

Source: Hindi Newstrack