डैमों से लगातर छोड़ा जा रहा पानी, पलायन के लिए मजबूर ग्रामीण

National

हरदोई: हरदोई के सवायजपुर व बिलग्राम तहसील के दर्जनों गांव में बाढ़ के पानी से पूरे इलाके में हाहाकार मचा हुआ है।गंगा रामगंगा व गर्रा सहित क्षेत्र की सभी नदियों के जलस्तर में हो रही लगातार बृद्धि से अरवल सहित कटियारी इलाके के सैकङो गांव पूरी तरह तबाही के मंजर से जूझ रहे हैं।

यह भी पढ़ें: किराए पर आवासीय व वाणिज्यिक संपत्ति का करना होगा निंबधन विभाग से पंजीकरण

हजारों बीघे फसलें पूरी तरह जल में समाहित हो जाने से लोगों को भुखमरी और पशुओं के लिए हरे चारे की चिंता सताने लगी है।वहीं लोग पलायन के लिए मजबूर हो रहे है।हालांकि भाजपा विधायक माधवेन्द्र प्रताप सिंह रानू बाढ़ प्रभावित इलाके में पहुंचे औ हालातों का जायजा लिया।

गंगा नदी में हरिद्वार से 1,18.93 क्यूसेक  और नरौरा से 2,004.83 क्यूसेक पानी छोड़ा गया है।वहीं गुरुबार को छोड़ा गया पौने दो लाख क्यूसेक पानी ही अभी लोगो को तबाही के लिए काफी साबित हो रहा है जबकि तीन लाख क्युशेक पानी छोड़ा गया जो आज शाम तक आने की संभावना है।

इसके अतिरिक्त शनिवार को छोड़े गए लगभग ढाई लाख क्यूसेक पानी के कल शाम तक आने की उम्मीद से लोग भयभीत थे लेकिन रविवार को भी तीन लाख क्यूसेक से अधिक पानी छोड़े जाने से स्थिति महा बिकराल होने की संभावना है।बाढ़ की तबाही से इलाके के आहत नागरिकों के सामने अपने निवालों को लेकर भी चिंता सताने लगी है।

पियारीपुर,अलीशेर पुरवा, सुलखामऊ, मूर्वा शाहबुद्दीन पुर गंगा एवं रामगंगा नदी के बीच टापू बन गए है।हालांकि प्रशासन उन्हें किसी तरह बाढ़ से फंसे होने की बजह से नाव द्वारा सुरक्षित स्थान पर निकालने का प्रयास कर रहा है।

The post डैमों से लगातर छोड़ा जा रहा पानी, पलायन के लिए मजबूर ग्रामीण appeared first on Newstrack Hindi.

Source: Hindi Newstrack