राहुल का भाजपा को सत्ता से बेदखल करने का संकल्प

National

नई दिल्ली : तेल की बढ़ती कीमतों, रुपये में गिरावट जैसे मुद्दों को लेकर पीएम  नरेंद्र मोदी की चुप्पी पर निशाना साधते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि एकजुट विपक्ष अगले आम चुनाव में बीजेपी को सत्ता से बेदखल कर देगा।

‘भारत बंद’ की अगुवाई करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, देश मोदी के भाषणों से तंग आ चुका है और आम आदमी से संबंधित ज्वलंत मुद्दों पर उनसे कुछ सुनना चाहता है, लेकिन पीएम  चुप्पी साधे हुए हैं।

राहुल ने कहा कि मोदी ने 2014 के चुनाव के दौरान किए गए उस वादे को पूरा किया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि वह भारत को कुछ ऐसा बनाना चाहते हैं, जो पिछले 70 सालों में नहीं हुआ, क्योंकि अर्थव्यवस्था, कृषि संकट, करीबी दोस्तों को व्यापार में फायदा पहुंचाना और बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार होने जैसी चीजें कभी भी इतनी बुरी नहीं थी, जितनी कि चार साल पहले मोदी के सत्ता में आने के बाद से हुई हैं।

राहुल ने कहा, 70 सालों में रुपया कभी इतना कमजोर नहीं रहा है, पेट्रोल की कीमत आज 80 रुपये से अधिक है। जबकि डीजल 80 रुपये के करीब पहुंच रहा है। विपक्ष में रहने के दौरान कीमतों में वृद्धि को लेकर हो-हल्ला मचाते थे, लेकिन आज वह चुप हैं। रसोई गैस की कीमत दोगुनी हो गई है, लेकिन मोदी एक शब्द नहीं बोलते हैं। किसान आत्महत्या कर रहे हैं, लेकिन मोदी चुप हैं। बीजेपी विधायक दुष्कर्म में शामिल हैं, लेकिन मोदी कुछ भी नहीं कहते हैं।

उन्होंने कहा, जब राफेल सौदे के बारे में संसद में प्रश्न उठाए जाते हैं, तो पीएम जवाब नहीं दे पाते हैं।

राहुल ने कहा, पीएम भाषण देते जा रहे हैं। देश अब उनके भाषणों से तंग आ गया है। वह उस बारे में कुछ भी नहीं कहते, जिसे देश सुनना चाहता है, जिसे युवा सुनना चाहते हैं।

राहुल हजारों विपक्षी कार्यकर्ताओं और नेताओं के साथ राजघाट से सरकार विरोधी नारे लगाते हुए रामलीला मैदान पहुंचे, जहां उन्होंने सभा को संबोधित किया।

कांग्रेस अध्यक्ष ने मोदी पर नोटबंदी और जीएसटी को लेकर भी हमला किया और उन पर जाति और संप्रदाय के आधार पर भारतीयों के बीच फूट डालने का आरोप लगाया।

राहुल ने कहा, मोदी कहते थे कि 70 सालों में जो नहीं हुआ, उसे वह पांच सालों में कर डालेंगे और वास्तव में उन्होंने चार सालों में जो किया है, वह 70 सालों में कभी नहीं हुआ।

उन्होंने कहा, जहां भी आप देखते हैं, एक भारतीय दूसरे भारतीय के साथ लड़ रहा है, जहां भी मोदी जाते हैं, एक लड़ाई को जन्म देते हैं.. एक धर्म को दूसरे धर्म के साथ, एक जाति को दूसरी जाति के साथ, एक राज्य को दूसरे राज्य के साथ लड़ाते हैं।

राहुल ने कहा कि किसान, मजदूर और छोटे व्यापारी उम्मीद खो रहे हैं, जबकि मोदी के 15-20 करीबी पूंजीपति सारे लाभ उठा रहे हैं।

राहुल ने किसी उद्योगपति का नाम लिए बिना कहा, किसानों के कर्ज माफ नहीं किए जा सकते हैं, लेकिन एक उद्योगपति को 45,000 करोड़ रुपये का उपहार दिया जा सकता है। भारत के युवाओं को पता होना चाहिए कि मोदी ने अपने उद्योगपति मित्र को जो पैसा दिया है, वह उनका (मोदी का) नहीं है। 45,000 करोड़ रुपये युवाओं और किसानों के हैं।

राहुल ने इस बात को रेखांकित किया कि नोटबंदी ने अर्थव्यवस्था, किसानों और छोटे व्यापारियों को कितना नुकसान पहुंचाया है। उन्होंने कहा कि मोदी को अभी भी 2016 की नोटबंदी के पीछे के ‘वास्तविक कारण’ के बारे में देश को बताना बाकी है।

विरोध प्रदर्शन में शामिल प्रमुख विपक्षी नेताओं के साथ राहुल ने अगले आम चुनाव में भाजपा को एकजुट विपक्ष के बलबूते सत्ता से उखाड़ फेंकने का भरोसा जाहिर किया।

उन्होंने कहा, “आज पूरा विपक्ष यहां मंच पर है। यह एकता का सबूत है। हमारी विचारधारा एक है और हम सभी एक साथ भाजपा को हराएंगे।”

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, “हमारे किसानों, युवाओं और पूरे देश के दिल में जो दर्द है, वह यहां मौजूद सभी नेताओं के दिल में भी है, लेकिन मोदी के दिल में ऐसा कुछ नहीं है। हम वादा करते हैं, हम एक साथ मिलकर भाजपा को सत्ता से बेदखल कर देंगे।”

The post राहुल का भाजपा को सत्ता से बेदखल करने का संकल्प appeared first on Newstrack Hindi.

Source: Hindi Newstrack