तेल की कीमतें बढ़ने के पीछे क्या कारण? 

National

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में एक बार फिर इजाफा हुआ है। गुरुवार को पेट्रोल की कीमतों में 13 पैसे की बढ़ोतरी हुई है, जबकि डीजल 11 पैसे बढ़े हैं। अब दिल्ली में पेट्रोल 81 रुपये प्रति लीटर हो गया है, जबकि डीजल 73.08 रुपये प्रति लीटर है। हालांकि बुधवार को तेल की कीमतों नहीं बढ़ी थीं। दिल्ली में बुधवार को पेट्रोल 80.87 रुपये प्रति लीटर बिका था, जबकि डीजल 72.97 रुपये प्रति लीटर था।

वहीं, मुंबई में भी पेट्रोल-डीजल की कीमतों में क्रमश: 13 पैसे और 11 पैसे की बढ़ोतरी हुई है। यहां अब पेट्रोल की कीमत 88.39 रुपये प्रति लीटर हो गई है, जबकि डीजल की कीमत 77.58 रुपये प्रति लीटर है। बुधवार को यहां पेट्रोल 88.26 रुपये प्रति लीटर बिका था, जबकि डीजल का दाम 77.47 रुपये प्रति लीटर था।

माना जा रहा है कि आने वाले समय में देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतें अभी और बढ़ने वाली हैं। हालांकि यह भी अनुमान लगाया जा रहा है कि 4 राज्यों में आगामी विधानसभा चुनावों को लेकर सरकार बाद में तेल की कीमतों पर लगाम लगा सकती है।

तेल की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी के पीछे सबसे बड़ा कारण डॉलर की मुकाबले रुपये का गिरना है। चूंकि रुपये में लगातार गिरावट आ रही है, इसकी वजह से तेल कंपनियां भी लगातार कीमतों में बदलाव कर रही हैं। इसका सबसे बड़ा कारण ये है कि तेल कंपनियों को कीमतों का भुगतान डॉलर में करना पड़ता है, जिसकी वजह से उन्हें अपना मार्जिन पूरा करने के लिए तेल की कीमतों में इजाफा करना पड़ रहा है।

Source: Purvanchal media