फेसबुक का बड़ा एलान: यूजर्स के डेटा की सुरक्षा अकेले नहीं कर सकते

Tech

डेटा सुरक्षा और निजता को लेकर कड़ी सार्वजनिक समीक्षा का सामना कर रही फेसबुक ने अब कहा है कि समूचे प्रौद्योगिकी उद्योग को साथ आना चाहिए तथा लोगों के डेटा की सुरक्षा करनी चाहिए।

फेसबुक के उत्पाद प्रबंधन के निदेशक डेविड बासेर के मुताबिक, अलग-अलग कंपनियों के बारे में करीब रोज ही ऐसी खबरें आती हैं कि लोगों की डेटा उनके यहां से गलत हाथों में चली गई है।

बासेर ने एक ब्लॉग पोस्ट में गुरुवार देर रात कहा, “भले ही हम गोपनीयता सुरक्षा को लेकर कदम उठा रहे हैं, लेकिन इससे मकसद पूरा नहीं होगा, क्योंकि कंपनियां एक दूसरे से जुड़ी हुई हैं और हमारी प्रौद्योगिकी पारिस्थितिकी तंत्र को वापस मोड़ा नहीं जा सकता है।”

उन्होंने कहा, “इसलिए हमें डेटा पोर्टेबिलिटी को वास्तविकता बनाने के लिए मानकों और सर्वोत्तम प्रथाओं पर एक-साथ काम करने की जरूरत है, साथ ही लोगों की गोपनीयता और सुरक्षा को प्राथमिकता बनाने की जरूरत है।”

फेसबुक, गूगल, माइक्रोसॉफ्ट और ट्विटर ने पिछले हफ्ते घोषणा की थी कि वे ओपन सोर्स की पहल, जिसे डेटा ट्रांसफर परियोजना (डीटीपी) नाम दिया गया है, उसमें शामिल हो रहे हैं।

फिलहाल शुरुआती चरणों में, डाटा ट्रांसफर प्रोजेक्ट एन्क्रिप्शन के साथ किसी अन्य सेवा के लिए साइन अप करने के लिए एक सेवा के यूजर्स को अपने डेटा का उपयोग करने में मदद करेगा।

फेसबुक के अनुसार, दुनिया के कुछ सबसे लोकप्रिय एप्स उसके प्लेटफार्म पर बनाए गए हैं और जानकारी के प्रवाह का दुरुपयोग होने की संभावना है।

Source: Purvanchal mEDIA