मुख्यमंत्री के जिले मे फर्जी डॉक्टरों की भरमार,जिन्दा को घोषित कर दिया मृत

Viral

मुख्यमंत्री के जिले मे फर्जी डॉक्टरों की भरमार, जिन्दा को घोषित कर दिया मृत


            – जिवित को मृत घोषित 4 घण्टे पहले वापस भेज दिया घर

  – झोलाछाप डाक्टरों की भरमार से खतरे में जिंदगी
कौड़ीराम बासगांव गोरखपुर ।
बासगांव थाना क्षेत्र के कौड़ीराम 

में झोलाछाप डाक्टरों की भरमार हो गयी है। जो हर गली-चौराहों पर अपनी दुकान सजा कर बैठे हैं। दुकान के सामने बड़े-बड़े बोर्ड पर फर्जी डिग्री लिख कर मरीजों को गुमराह कर उनका शोषण कर रहे हैं। शिकायत के बाद भी संबंधित विभाग के अधिकारी कोई कार्यवाही नहीं करते हैं। जिससे उनका मनोबल बढ़ता जा रहा है और लोग असमय काल के गाल में जा रहे हैं।
   कौड़ीराम चौराहे सहित दर्जनों गावों में झोलाछाप चिकित्सक छाए हुए हैं। कई जगह पर तो यह चिकित्सक शर्तियां इलाज की गारंटी तक दे रहे हैं। जो गाँव की भोली-भाली जनता को अपने जाल में फंसाकर उनका शोषण कर रहे हैं। ये चिकित्सक कहीं-कहीं तो कुछ लोगों को गांव से मरीज लाने पर कमीशन भी देते है। इसके आलावा मरीजों का  बेरोकटोक आपरेशन भी कर रहे हैं। जिससे आए दिन बेमौत मरीज मर जाते हैं। मामला अगर पुलिस के पास जाता है तो वहा भी सुलह समझोते की बात होती है। क्षेत्र वासियों का कहना है कि इसकी शिकायत कई बार स्वास्थ्य विभाग के उच्चाधिकारियों से की गई, मगर इनके खिलाफ अभी तक कोई ठोस कार्यवाई नहीं हुई। इससे यह पता चलता है की स्वास्थ्य विभाग कितना गंभीर है ? कभी-कभी तो लगता है कि स्वास्थ्य विभाग की मिलीभगत से झोलाछाप डाक्टरों का धंधा फलफूल रहा है।
         युवक की चल रही थी साँसे  डॉक्टर ने मृत घोषित किया
       दुर्गा पूजा में करंट लगने से से युवक की हुई मौत करंट लगने के बाद परिजन उपचार हेतू कौड़ीराम प्राइवेट अस्पताल आशीर्वाद नर्सिंग होम पर  ले गए जहां अस्पताल प्रबंधन ने अपने पैसे बनाने के लिए घंटो उलझाये रखा अंततः डॉक्टर ने बिना किसी चिकित्सीय परीक्षण के उसे मृत घोषित कर दिया परिजन हताश होकर युवक को घर ले गए
 घटना की जानकारी होने पर कार्यवाहक एस ओ सरफराज अहमद बासगांव और कौड़ीराम  चौकी प्रभारी शाहिद सिद्दीकी अपने हमराहीयो संग मृतक के घर पहुचे। पोस्टमार्टम  हेतु  पंचनामा तैयार करने लगे साथ ही साथ अन्य जिम्मेदारियों के निर्वहन हेतू युवक के शरीर की जाँच की तो जाँच मे चौकाने वाला मामला सामने  आया। जिस लड़के को आशीर्वाद नर्सिंग होम के डॉक्टर 3 : 30 घण्टे पहले  ही मृत घोषित कर दिया था । उसकी नाड़िया अभी भी चल रही थी। पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए खुद परिजनो संग युवक को इलाज के लिए गोरखपुर जिला अस्पताल भेजवाया लेकिन ज्यादे विलम्ब होने के कारण जिला अस्पताल पहुंचते पहुंचते लड़के की मृत्यु हो गयी । जिला अस्पताल इमरजेंसी के डॉक्टरों के मुताबिक पहुचने से 10 मिनट पहले युवक की मौत हुई।
यह है घटना
 बाँसगांव थाना क्षेत्र के लालपुर निवासी केदार यादव का इकलौता पुत्र 19 साल अखिलेश यादव उर्फ भोलू गाँव मे सजे दुर्गा पूजा पंडाल मे गया था  । शुक्रवार की शाम करीब साढ़े 6 बजे बिजली गुल हो जाने पर उसे ठीक करने मे लग गया इसी बीच तार मे बिजली प्रवाहित हो गयी और वह उसकी चपेट में आ गया

मृतक राजस्थान के किसी प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता था।युवक की मौत पर पूरे गाँव मे शोक का माहौल छा गया।

Source: Gorakhpur times
Click link to read original post
मुख्यमंत्री के जिले मे फर्जी डॉक्टरों की भरमार,जिन्दा को घोषित कर दिया मृत