Lifestyle

बाबा रामदेव के टिप्स: गन्ना खाने वाली गाय का दूध पीने से दूर होगी स्पर्म कमी की समस्या

योग में हर शारीरिक समस्या का समाधान मौजूद है। नियमित प्राणायाम और योगासन से कई घातक बीमारियों के ईलाज का भी मामला देखने को मिलता है। योग से समाधान पाने के लिए जीवन में कठोर अनुशासन बहुत जरूरी है। मतलब यह कि योग से लाभ तभी हो सकता है जब इसे नियमित रूप से किया जाए। आज हम योग और कुछ घरेलू उपायों से पुरुषों की यौन समस्याओं के समाधान के विषय पर चर्चा करेंगे। योग ऋषि बाबा रामदेव पुरुषों में स्पर्म काउंट बढ़ाने और अन्य यौन बीमारियों से निपटने के लिए योग और आयुर्वेद का इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं।

बाबा रामदेव के टिप्स: गन्ना खाने वाली गाय का दूध पीने से दूर होगी स्पर्म कमी की समस्या

बाबा रामदेव के अनुसार आज के दौर में फर्टिलाइजर्स के इस्तेमाल से तथा युवाओं में बढ़ते तनाव के चलते उनमें शुक्राणुओं की कमी की समस्या देखी गई है। बढ़ती उम्र के साथ वैसे भी पुरुषों में स्पर्म प्रोडक्शन काफी कम हो जाता है, लेकिन आजकल यह समस्या युवाओं में भी भारी मात्रा में देखी जा रही है। इस गंभीर समस्या से निपटने के लिए बाबा रामदेव कपालभाति प्राणायाम करने की सलाह देते हैं। उनका कहना है कि रोज लगभग आधे घंटे कपालभाति करने से पुरुषों में स्पर्म काउंट और स्त्रियों में अंडो के निर्माण में बढ़ोत्तरी होती है।

इसके अलावा स्पर्म काउंट बढ़ाने के लिए अश्वगंधा, शतावर, सफेद मुसली और क्रौंच के बीज के पाउडर का इस्तेमाल करना भी काफी फायदेमंद होता है। नियमित दूध का सेवन भी शुक्राणुओं की संख्या में वृद्धि करता है। यह दूध अगर गन्ने के घास का सेवन करने वाली गाय या फिर भैस का हो तो यह ज्यादा फायदेमंद है। लिकोरिया की बीमारी से उबरने के लिए बाबा रामदेव शीशम के पत्ते के इस्तेमाल की सलाह देते हैं। इसके अलावा उनका कहना है कि कई तरह की अन्य यौन बीमारियों से बचने के लिए योग करने के साथ-साथ हर समय उत्तेजना वाले दृश्यों से भी बचकर रहना चाहिए।

The post बाबा रामदेव के टिप्स: गन्ना खाने वाली गाय का दूध पीने से दूर होगी स्पर्म कमी की समस्या appeared first on Poorvanchal Media Group.

Source: pURVANCHAL MEDIA
Click link to read original post
बाबा रामदेव के टिप्स: गन्ना खाने वाली गाय का दूध पीने से दूर होगी स्पर्म कमी की समस्या

Samvadata
Samvadata.com is the multi sources news platform.
http://Samvadata.com