National

26 सहकारी समितियों के सदस्यों की सदस्यता भंग

देहरादून, : उत्तराखंड में राज्य सहकारी संघ के गुलाम गठित जांच के दायरे में आई 97 समितियों में से 26 सहकारी समितियों के सदस्यों की सदस्यता खत्म करने के आदेश जारी कर दिए गए. इससे पहले शुक्रवार को 70 समितियों की सदस्यता खत्म की गई थी. अलबत्ता, श्रमिक सहकारी भेषज विकास एवं बहुद्देश्यीय क्रय-विक्रय संघ लि देहरादून की सदस्यता जांच में सही पाई गई.

निबंधक सहकारी समितियां बीएम मिश्रा के अनुसार सभी 96 समितियों के आदेश अलग-अलग जारी किए गए हैं. इस बारे में राज्य सहकारी संघ के प्रबंध निदेशक को सूचना भेज दी गई है.

राज्य सहकारी संघ के गुलाम गठित सहकारी समितियों में अनियमितता की बात सामने आने पर सहकारिता राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ धन सिंह रावत ने राज्य गठन से लेकर अब तक गठित करीब डेढ़ सौ समितियों की जांच कराई.

जांच में बात सामने आई कि 97 सहकारी समितियां नियमानुसार संचालित नहीं हो पा रही हैं. इस पर निबंधक सहकारी समितियां की ओर से इन समितियों को नोटिस भेजकर अपना पक्ष रखने को बोला गया. इनमें से 70 समितियों के जवाब से संतुष्ट न होने के बाद शुक्रवार को इनके सदस्यों की सदस्यता समाप्त करने के आदेश निर्गत कर दिए गए.

शेष 27 समितियों के विषय में पड़ताल के बाद इनमें से 26 की सदस्यता खत्म करने के आदेश सोमवार को जारी कर दिए गए. निबंधक सहकारी समितियां बीएम मिश्रा के अनुसार जांच में इस बात पर मुख्य फोकस किया गया था कि समितियों के सदस्यों की सदस्यता सही है अथवा नहीं.

जांच के बाद 96 समितियों के सदस्यों की सदस्यता नियमानुसार नहीं पाई गई, लिहाजा इन्हें खत्मकरने के अलग-अलग आदेश निर्गत किए गए हैं. वजह ये कि सभी समितियों के अलग-अलग कारण हैं. उन्होंने बताया कि देहरादून की एक सहकारी समिति नियमानुसार सही पाई गई.

निबंधक के मुताबिक जिन 96 समितियों के सदस्यों की सदस्यता खत्म करने के आदेश दिए गए हैं, उसके बारे में राज्य सहकारी संघ के प्रबंध निदेशक को लेटर भेज दिया गया है. अब इनके शेयर वापसी आदि की कार्रवाई राज्य सहकारी संघ के स्तर से होनी है.

वहीं, कांग्रेस पार्टी के वर्चस्व वाले राज्य सहकारी संघ के गुलाम गठित सहकारी समितियों की सदस्यता खत्म होने से सियासत भी तेज हो गई है. सदस्यता खत्म होने का प्रभाव संघ के निदेशक मंडल पर भी पड़ेगा. वजह ये कि अब संघ के 14 सदस्यीय निदेशक मंडल के 10 निदेशकों की सदस्यता पर तलवार लटक गई है. ये निदेशक उन 96 सहकारी समितियों से चुने गए हैं, जिनके सदस्यों की सदस्यता खत्म की गई है.

The post 26 सहकारी समितियों के सदस्यों की सदस्यता भंग appeared first on Poorvanchal Media Group.

Source: Purvanchal media
Click link to read original post
26 सहकारी समितियों के सदस्यों की सदस्यता भंग