Health

अगर इस समय बनाया ‘यौन सम्बन्ध’, तो जाना पड़ेगा नर्क

हिन्द न्यूज़ डेस्क| वैसे तो सेक्स को लेकर मनुष्य का मन इतना चंचल होता हैं.कि वो सम्बन्ध बनाते वक्त समय का कोई ध्यान नहीं देते हैं.बता दें,जब हमें मनुष्य का जन्म मिला तो उसी के साथ रहन-सहन के लिए नियम बनाए गए हैं.और इन सभी नियमों का हर तरीका भी हमे पालन करने का अलग-अलग तरीको से रूबरू भी कराया जाता हैं.और  जिसका पालन करने पर हमें जीवन में सुख प्राप्त होता है. इतना ही नहीं मिक्ष प्राप्ति के लिए भी इन नियमों का पालन करना ज़रूरी है.  जो व्यक्ति इन नियमों का पालन नहीं करता उसे जीवन भर दुःख झेलने पड़ते हैं और साथ ही ये दुःख उसे अगले जनम तक भी घेरे रहते हैं.

अगर करते हैं रातों में ऑनलाइन सेक्स, तो ये खबर सिर्फ आपके लिए

ब्रह्मवैवर्त पुराण के श्रीकृष्‍णखंड में बताया गया है कि द‌िन के समय और सूर्योदय, सूर्यास्त के समय स्‍त्री पुरुष को यौन संबंध से बचना चाह‌िए. ऐसा करने से अगले सात जन्मों तक व्यक्त‌ि रोगी होता है और आर्थ‌िक तंगी का सामना करना पड़ता है.जिस तरह खाने-पीने और रहने के नियम बनाए गए हैं, वैसे ही यौन संबंधों को लेकर भी कुछ नियम बनाए गए हैं. इसके अलावा भी कुछ तिथियाँ हैं, जिसमें व्यक्ति को यौन संबंधों से बचना चाहिए. इन निय्तामों के बारे में महाभारत के अनुशासन पर्व में भी बताया गया है.

अगर करते हैं रातों में ऑनलाइन सेक्स, तो ये खबर सिर्फ आपके लिए

इस अनुशासन पर्व के अनुसार महिला और पुरुष को यौन सम्बन्ध बनाने से बचना चाहिए. क्योंक‌ि इस त‌िथ‌ि में म‌िलन से व्यक्त‌ि को नीच योनि जैसे कीट, पशु, कीड़े के रूप में जन्म म‌िलता है साथ ही नर्क भी भोगना पड़ता है.इसके अलावा पूर्ण‌िमा, चतुर्दशी और अष्टमी त‌िथ‌ि में भी यौन सम्बन्ध बनाने की मनाही है. ऐसा करने पर व्यक्ति को नर्क का वास करना पड़ता है. साथ ही ग्रहण जैसी अशुभ तिथि में भी मिलन को टालना चाहिए. इसके साथ-साथ जन्माष्टमी, रामनवमी, होली, श‌िवरात्र‌ि, नवरात्र‌ि इन शुभ रात्र‌ियों में दैवी शक्त‌ियां जागृत रहती हैं इसल‌िए इनमें भी स्‍त्री-पुरुष म‌िलन से बचना चाह‌िए.

The post अगर इस समय बनाया ‘यौन सम्बन्ध’, तो जाना पड़ेगा नर्क appeared first on Hind News | Hindi News Portal.

Source: Hindnews24x7
Click link to read original post
अगर इस समय बनाया ‘यौन सम्बन्ध’, तो जाना पड़ेगा नर्क

Samvadata
Samvadata.com is the multi sources news platform.
http://Samvadata.com