‘पाक संग परमाणु योगदान NSG के सदस्य के रूप में चाइना की प्रतिबद्धताओं का उल्लंघन’

International

नयी दिल्ली: हिंदुस्तान  रूस के थिंक टैंकों की एक ज्वाइंट रिपोर्ट में बोला गया है कि अफगानिस्तान में किसी राजनीतिक ताकत के रूप में तालिबान के साथ रूस के सीमित संपर्कों को लेकर हिंदुस्तान को संशय है

रिपोर्ट में यह भी बोला गया कि इंडियन के अनुसार खबरों में पाक के साथ चाइना के परमाणु संबंधों की जो बातें सामने आती हैं उनसे हिंदुस्तान चिंतित है  यह परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी) के सदस्य के रूप में चाइना की प्रतिबद्धताओं का उल्लंघन है

भारत-रूस संबंधों के 70 वर्ष पूरे होने के मौके पर रशियन इंटरनेशनल अफेयर्स काउंसिल विवेकानंद इंटरनेशनल फाउंडेशन की रिपोर्ट में प्रमुख मुद्दों के अतिरिक्त दोनों राष्ट्रों के बीच समय के साथ परिपक्व होते रिश्तों के अनेक पहलुओं का अध्ययन किया गया है

इसमें बोला गया है, ‘‘अफगानिस्तान के संबंध में, उस राष्ट्र के दशा पर रूस  हिंदुस्तान के विचारों में ज्यादा अंतर नहीं है, लेकिन अफगानिस्तान में राजनीतिक ताकत के तौर पर तालिबान के साथ रूस के सीमित संपर्कों को लेकर हिंदुस्तान को संशय है ’’

रक्षा योगदान के संदर्भ में रिपोर्ट में बोला गया है कि रूसी पक्ष ने हिंदुस्तान में सैन्य उपकरणों के टेंडर की प्रक्रिया के विषय में ‘नौकरशाही की लंबी प्रक्रिया’ के मुद्दे को उठाया है जिसमें उनके द्वारा तय समयसीमा से अधिक समय लग सकता है

The post ‘पाक संग परमाणु योगदान NSG के सदस्य के रूप में चाइना की प्रतिबद्धताओं का उल्लंघन’ appeared first on Poorvanchal Media Group.

Source: Purvanchal media
Click link to read original post
‘पाक संग परमाणु योगदान NSG के सदस्य के रूप में चाइना की प्रतिबद्धताओं का उल्लंघन’