तांबा से जुड़ा ये इतिहास जिसे आप जानकर रह जाएंगे हैरान

Sports


इंटरनेट डेस्क। हिंदू धर्म में भगवान की पूजा से संबंधित अनेक नियम बताए गए हैं। उनमें एक नियम ये भी है कि पूजा के पात्र यानी बर्तन तांबे के होने चाहिए। विद्वानों का मत है कि तांबे से बने बर्तन पूरी तरह से शुद्ध होते हैं, क्योंकि इसे बनाने में किसी अन्य धातु का उपयोग नहीं किया जाता। इसलिए तांबे के बर्तनों का उपयोग पूजा में करना श्रेष्ठ होता है। इससे जुड़ी एक कथा का वर्णन वराहपुराण में मिलता है। जो इस प्रकार है-

वराह पुराण के अनुसार, पूर्वकाल में गुडाकेश नाम का एक राक्षस था, जो भगवान विष्णु का परम भक्त था। उसकी तपस्या से प्रसन्न होकर भगवान प्रकट हुए और उस राक्षस से वरदान मांगने को कहा।भगवान की बात सुनकर गुडाकेश ने विशद्ध हृदय से कहा- भगवान! यदि आप मुझ पर पूर्ण रूप से प्रसन्‍न हैं तो ऐसी कृपा करें कि मैं जहां-जहाँ जन्‍म लूं, हज़ारों जन्‍म तक आपके चरणों में ही मेरी दृढ भक्ति बनी रहे। भगवन! एक बात और चाहता हूँ। आपके हाथ से छूटे हुए चक्र के द्वारा ही मेरी मृत्‍यु हो और जब चक्र से मैं मारा जाऊँ, तब मेरे मांस, मज्‍जा आदि तांबे के रूप में हो जायँ ओर वे अत्‍यन्‍त पवित्र हों। उनकी पवित्रता इसी में है कि उनमें भोग लगाने से आपकी प्रसन्‍नता सम्‍पादित हो। अर्थात् मरने पर भी मेरा शरीर आपके ही काम में आता रहे।

भगवान ने उसकी प्रार्थना स्‍वीकार की और कहा- तब तक तुम तांबा होकर ही रहो। यह तांबा मुझे बड़ा प्रिय होगा। वैशाख शुक्‍ल द्वादशी के दिन मेरा चक्र तुम्‍हारा वध करेगा और तब तुम सदा के लिये मेरे पास चले जाओगे। यह कहकर भगवान अन्‍तर्हित हो गये।गुडाकेश मन में इस उत्‍सकुता के साथ बड़ी तपस्‍या करने लगा कि कब वैशाख शुक्‍ल द्वादशी आये और कब अपने प्रियतम के हाथों से छूटे हुए चक्र के द्वारा मेरी मृत्‍यु हो, जो मुझे उनके प्‍यार से मीठी होगी। अन्‍त में वह द्वादशी आ गयी। बड़े उत्‍साह के साथ वह भगवान की पूजा करके प्रार्थना करने लगा


भक्त की सच्‍ची प्रार्थना सुनकर विष्णु भगवान ने तुरंत ही चक्र के द्वारा उसके शरीर को टुकड़े-टुकड़े करके अपने धाम वैकुण्ठ बुला लिया और अपने प्‍यारे भक्त का शरीर होने के कारण वे आज भी तांबे से बहुत प्रेम करते हैं और वैष्‍णव लोग बड़े प्रेम से तांबे के पात्र में भगवान को अर्घ्‍यपादादि समर्पित करते हैं। गुडाकेश के मांस से तांबा, रक्त से सोना, हड्डियों से चांदी का निर्माण हुआ। इसी के मल से सीसा, लाख, कांसा रूपा आदि भी बने हैं। तभी से भगवान को तांबा अत्‍यन्‍त प्रिय है।

The post तांबा से जुड़ा ये इतिहास जिसे आप जानकर रह जाएंगे हैरान appeared first on Fashion NewsEra.

Source: Fashion newsera
Click link to read original post
तांबा से जुड़ा ये इतिहास जिसे आप जानकर रह जाएंगे हैरान