National

खेल प्राधिकरण पुरई गांव के होनहार तैराकों को करेगा प्रशिक्षित

छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिला स्थित पुरई गांव के प्रतिभाशाली तैराक बच्चों को अब जल्द ही बड़ा प्लेटफार्म मिल सकेगा. दैनिक जागरण में समाचार प्रकाशित किए जाने के बाद इंडियन खेल प्राधिकरण (साई) ने अब इन तैराकों की सुध ली है. आठ अक्तूबर को दैनिक जागरण ने ‘जागरण विशेष’ के रूप में इन होनहार तैराकों की समस्या को सामने रखा था.शीर्षक था, यह गांव दिला सकता है कई ओलंपिक मेडल. अब इसकी उम्मीद की जा सकती है. हो सकता है कि इन होनहार तैराकों में से अब कोई राष्ट्र को तैराकी का पहला ओलंपिक पदक भी दिला दे.

निखरेगी प्रतिभा तो होगा धमाल : इस गांव के ये बच्चे तालाब में तैराकी का एक्सरसाइज कर राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं सहित अन्य स्पद्धाओं में अनेक पदक जीत चुके है. साई के दिल्ली स्थित मुख्यालय से आदेश के बाद अब रायपुर साई की टीम 27 नवंबर को गांव में जाकर ट्रायल लेगी. छत्तीसगढ़ में साई निदेशक पंथ गीता ने बताया कि इंडियन खेल प्राधिकरण दिल्ली से रीजनल कार्यालय को आदेश प्राप्त हुआ है. ट्रायल उसी तालाब में लिया जाएगा, जिसमें बच्चे तैराकी सीखते हैं. ट्रायल में लगभग 15 बच्चों का चयन किया जाएगा, जिन्हें राष्ट्र के किसी भी साई सेंटर में रख कर तैयारी करवाई जाएगी. उनके रहने-खाने-पढ़ने का पूरा खर्च साई वहन करेगा.

उत्साहित हो उठे बच्चे : ट्रायल की समाचार मिलते ही बच्चे उत्साह से भर गए हैं. उन्हें पूरी उम्मीद है कि हर बच्चा ट्रायल में बाजी मारेगा. तालाब की स्थान जब ये बच्चे स्वीमिंग पूल में एक्सरसाइज करेंगे तो पदकों की झड़ी लगा सकते हैं. तालाब में एक्सरसाइज कर 50 से अधिक बच्चों ने राष्ट्रीय तैराकी सहित विभिन्न स्पद्र्धाओं में पदक जीते हैं. इस गांव के हर घर में पदक विजेता बच्चा मिल जाएगा. लेकिन जिस तालाब में ये बच्चे तैराकी का एक्सरसाइज करते आए थे, उसमें पिछले कुछ माह से गांव के दो गंदे नालों को जोड़ दिए जाने से बच्चों का एक्सरसाइज बंद हो गया था. बच्चों ने सरपंच, जनप्रतिनिधियों से लेकर लोकल प्रशासन तक गुहार लगाई, लेकिन सभी स्थानअनसुनी किए जाने से बच्चों का उत्साह समाप्त हो गया. वे इस बार राष्ट्रीय प्रतियोगिता में नहीं उतर सके. एक समाजसेवी संस्था जनसुनवाई फाउंडेशन ने बच्चों की आवाज गवर्नमेंट तक भी पहुंचाई, लेकिन बात नहीं बनी. मजबूरी में बच्चों वालंटियरों ने सात दिन तक जल-सत्याग्रह भी किया. लेकिन फिर भी बात नहीं बनी.

काम आया प्रयास
दैनिक जागरण  सहयोगी अखबार नयी संसार ने बच्चों की इस समस्या को भी प्रमुखता से प्रकाशित किया. राज्य गवर्नमेंट से लेकर साई तक सभी से जवाब मांगा. नयी संसार ने तालाब को गोद लेकर साफ-सफाई का जिम्मा संभाला. नयी संसार दैनिक जागरण में समाचार प्रकाशित होने के बाद इंडियन खेल प्राधिकरण (साई) के नयी दिल्ली स्थित केंद्रीय ऑफिस से राज्य इकाई को आदेश जारी किए गए हैं.

-भारतीय खेल प्राधिकरण द्वारा किया जाएगा 15 बच्चों का चयन
-प्रशिक्षण, रहने-खाने  पढ़ाई का पूरा खर्च करेगा वहन
-बच्चों के बारे में दैनिक जागरण में समाचार हुई थी प्रकाशित

The post खेल प्राधिकरण पुरई गांव के होनहार तैराकों को करेगा प्रशिक्षित appeared first on Poorvanchal Media Group.

Source: Purvanchal media
Click link to read original post
खेल प्राधिकरण पुरई गांव के होनहार तैराकों को करेगा प्रशिक्षित