डिजिटल एडवरटाईजमेंट पर एक वर्ष में होंगे 13000 करोड़ रुपये खर्च

Tech

डिजिटल एडवरटाईजमेंट का मार्केट आने वाले समय में  बढ़ेगा. राष्ट्र में डिजिटल एडवरटाईजमेंट पर होने वाला खर्च दिसंबर 2018 तक बढ़कर 13 हजार करोड़ रुपये हो जाएगा. एक सर्वे के अनुसार डिजिटल एडवरटाईजमेंट में हर साल 35 फीसद की बढ़ोतरी होने का अनुमान है.

डिजिटल एडवरटाईजमेंट पर खर्च हुए 9800 करोड़ रु:

उद्योग मंडल एसोचैम  केपीएमजी के एक सर्वे में बोला गया है की डिजिटल एडवरटाईजमेंट पर खर्च में बढ़ोतरी का कारण Smart Phone  डाटा शुल्क में गिरावट होना है. सर्वे के अनुसार डिजिटल एडवरटाईजमेंट पर फिल्हाल 9800 करोड़ रुपये खर्च किए गए है. 3G  अब तो 4G सेवाओं के विस्तार  इंटरनेट की पहुंच बढ़ने से डिजिटल एडवरटाईजमेंट खर्च में बढ़ोतरी होगी.2016 के आंकड़ों पर नजर डालें तो साल 2016 के अंत तक डिजिटल एडवरटाईजमेंट पर तकरीबन 7500 करोड़ रुपये खर्च हुए.

डिजिटल एडवरटाईजमेंट की 50 फीसद भागीदारी:

रिपोर्ट में बताया गया है की कुल एडवरटाईजमेंट खर्च में डिजिटल एडवरटाईजमेंट की 50 फीसद भागीदारी होती है. इसके बाद ई-कॉमर्स, दूरसंचार, प्रौद्योगिकी  बैंकिंग, वित्तीय सेवाओं  बीमा कंपनियां आती हैं. डिजिटल विज्ञापनों की अच्छाई है की यह अधिक लोगों तक पहुंचता है. इसे टीवी, लैपटॉप, टैबलेट, Smart Phone आदि कई तरह के उपकरणों पर देखा जा सकता है. रिपोर्ट के अनुसार राष्ट्र में 23.5 करोड़ लोग मोबाइल के जरिये इंटरनेट का प्रयोग करते हैं. मोबाइल एप्स के जरिए डिजिटल एडवरटाईजमेंट ग्रामीण  दूर-दराज के क्षेत्रों में भी सरलता से पहुंच पा रहे हैं. आने वाले समय में डिजिटल एडवरटाईजमेंट बड़ी संख्या में लोगों तक मैसेज बन सकता है.

The post डिजिटल एडवरटाईजमेंट पर एक वर्ष में होंगे 13000 करोड़ रुपये खर्च appeared first on Poorvanchal Media Group.

Source: Purvanchal mEDIA
Click link to read original post
डिजिटल एडवरटाईजमेंट पर एक वर्ष में होंगे 13000 करोड़ रुपये खर्च