आईना दिखाता सर्वे

National

नई दिल्ली . राष्ट्र में सड़क सुरक्षा के लिए कार्यरत संस्था सेव जीवन फाउंडेशन ने राष्ट्र के दस शहरों (आगरा, बेंगलुरु, चेन्नई, दिल्ली, गुवाहाटी, जयपुर, कोच्चि, कोलकाता, मुंबई, नागपुर) में यातायात की स्थिति पर लोगों से सर्वे किया है. यह सर्वे हमें जिम्मेदारियों के प्रति जागरूक करने के लिए आईना दिखाता है.

सड़क सुरक्षा के लिए कानून

देश में मोटर व्हीकल एक्ट 1988 से यातायात का नियमन किया जाता है. यह पुराना कानून आज की चुनौतियों से लड़ने में पूर्णत: असमर्थ दिखता है. तीन जून, 2014 को तत्कालीन केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री गोपीनाथ मुंडे की एक सड़क एक्सीडेंट में हुई मौत के बाद यातायात एरिया में कानून-कायदों को कठोर किए जाने की कवायद प्रारम्भ हुई. एक कठोर बिल तैयार किया गया लेकिन कराधान, सार्वजनिक यातायात  शीर्ष संस्था के गठन जैसे मसलों पर कुछ राज्यों  अन्य हितधारकों के भारी विरोध के बीच इसे पारित नहीं कराया जा सका. गवर्नमेंट ने 2016 में संसद के मानसून सत्र में मोटर व्हीकल्स (अमेंडमेंट) बिल, 2017 पेश किया. लोकसभा ने इसे दस अप्रैल, 2016 को पास कर दिया. लेकिन अभी राज्य सभा में यह विचाराधीन है. गवर्नमेंट का दावा है कि इसके कड़े प्रावधानों के जरिये राष्ट्र में सड़क सुरक्षा को मजबूत बनाया जा सकेगा.

The post आईना दिखाता सर्वे appeared first on Poorvanchal Media Group.

Source: Purvanchal media
Click link to read original post
आईना दिखाता सर्वे