जानिए, आगमी दिनों में आने वाली लोहड़ी के त्यौहार का महत्व

Sports

कल्चरल डेस्क:हमारी भारतीय संस्कृति में हर त्यौहार का अपना एक अलग ही मह्त्व है ऐसा ही कुछ आगमी दिनों मे आने वाली लोहड़ी के त्यौहार को लेकर भी है। लोहड़ी का त्यौहार हमारी संस्कृति में एक विशेष महत्व रखता है। जिसकी रौनक बाजारों में रेवड़ी मूंगफली और मकई को लेकर देखने को मिल रही है। शहर में इन दिनों इन चीजों की खरीदारी जोरों शोरों से चल रही है। लोहड़ी के त्यौहार की रौनक पंजाबी और हरियाणवी लोगों में ज्यादा देखने को मिलती है। इस दिन पंजाबी महिलाएं खूब संजती सवरती है।

लोहड़ी का त्यौहार हमारी वंश वृद्धि का प्रतीक है। पंजाबी संस्कृति में जब किसी के घर में बच्चा पैदा होता है या फिर किसी घर में नई दुल्हन आती है तो उस घर में आग जलाकर तिल, रेवडिय़ों की आहुति के साथ ही अग्नि के चक्कर लगाते हैं तथा नृत्य, गीत, भंगड़ा आदि के अलावा पंजाबी गीत शगुन के रुप में गाए जाते है।

लोहड़ी पौष मास की समाप्ति-शरद ऋतु के अंत पर माघमास के आरंभ व बसंत ऋतु के आगमन पर मनाया जाने वाला त्यौहार है। एक दंत कथा के अनुसार जब राजा दक्ष ने सती के पति महादेव को यज्ञ में स्थान नहीं दिया और स्वयं को अपमानित अनुभव करने पर यज्ञ अग्नि में कूदकर आत्महत्या कर लेने पर शिव जी ने क्रोधित होकर दक्ष प्रजापति का सिर काटकर अग्नि को भेंट कर दिया। देवों के विनय करने पर भगवान शिव ने दक्ष को नया जीवन दिया और इसी यज्ञ में पूर्णाहुति डाली गई। लोहड़ी सूर्य नारायण की पूजा का भाग है। कार्तिक मास में सूर्य देव पृथ्वी से काफी दूर चले जाते हैं तभी सूर्य की किरणों में विशेष गर्मी नहीं होती। आदिवासी इस प्रक्रिया को सूर्य का ताप कम होने से जोड़ते हैं तथा सूर्य के प्रकाश तथा ताप को पुन:सजीव करने के लिए लोहड़ी की आग जलाई जाती थी।

इस लोहड़ी आपको Pretty Look देगा पंजाबी सलवार सूट स्टाइल

प्राचीनकाल मे महिलाए इस वजह से पहना करती थी इतना सोना

 

 

 

 

 

 

 

 

 

The post जानिए, आगमी दिनों में आने वाली लोहड़ी के त्यौहार का महत्व appeared first on Fashion NewsEra.

Source: Fashion newsera