इंडियन सेना के प्रहार से डरा पाकिस्तान

International

इस्लामाबाद: एक मीडिया रिपोर्ट में मंगलवार (16 जनवरी) को बोला गया कि नियंत्रण रेखा एवं अस्थायी सीमा पर तनाव कम करने के मकसद से पाक चार वर्षों के अंतराल के बाद हिंदुस्तान के साथ महानिदेशक सैन्य अभियान (डीजीएमओ) स्तर की मीटिंग के एक प्रस्ताव पर विचार कर रहा है यह रिपोर्ट ऐसे समय में आई है जब पाक ने सोमवार (15 जनवरी) को ही बोला कि नियंत्रण रेखा के पार से इंडियन सैनिकों की ओर से की गई गोलीबारी में उसके चार सैनिक मारे गए, जबकि पांच अन्य जख्मी हो गए बहरहाल, इंडियन थलसेना ने बोलाकि जवाबी फायरिंग में सात पाकिस्तानी सैनिक मारे गए थे

‘डॉन’ की समाचार के मुताबिक, 15 जनवरी को पाकिस्तानी रक्षा मंत्रालय के एक ऑफिसर ने सीनेट की रक्षा समिति को बताया था कि डीजीएमओ की मीटिंग के एक ताजा प्रस्ताव पर विचार किया जा रहा है रिपोर्ट के मुताबिक, ऑफिसर ने सीनेटरों को हिंदुस्तान की ओर से संघर्षविराम उल्लंघन के ताजा रुझान की जानकारी दी थी पिछले वर्ष नवंबर में दोनों राष्ट्रों के डीजीएमओ के बीच फोन पर वार्ता हुई थी यह वार्ता पाक के अनुरोध के बाद हुई थी

रिपोर्ट के मुताबिक, डीजीएमओ स्तर की मीटिंग के लिए एक वैश्विक बहाली तरीका के तौर पर इस बात पर विचार किया जा रहा है कि नियंत्रण रेखा पर प्रयोग होने वाले हथियारों की क्षमता में कमी की जाए हिंदुस्तान  पाक के डीजीएमओ के बीच हॉटलाइन संपर्क भी है, लेकिन उन्होंने चार वर्ष पहले वाघा (लाहौर  अमृतसर के बीच का एक गांव) में आमने-सामने मुलाकात की थी 24 दिसंबर 2013 कोई हुई यह मीटिंग 14 वर्ष के अंतराल के बाद हुई थी उस मीटिंग में भी नियंत्रण रेखा एवं अस्थायी सीमा पर शांति सुनिश्चित करने के तौर-तरीकों पर चर्चा की गई थी

इस बीच, सीनेट समिति की ओर से आम राय के जरिए पारित किए गए प्रस्ताव में इंडियन थलसेना प्रमुख जनरल रावत के उस बयान की निंदा की गई जिसमें उन्होंने पाक की ओर से परमाणु हमले के झांसे को धता बताने की बात कही थीसमिति ने इसे ‘‘युद्ध जैसी’’ घोषणा करार दी

The post इंडियन सेना के प्रहार से डरा पाकिस्तान appeared first on Poorvanchal Media Group.

Source: Purvanchal media