हिंदुस्तान व पाक के बीच जम्मू व कश्मीर को लेकर छिड़ा टकराव

National

अरनिया : अंग्रेजो से आजादी के बाद हिंदुस्तान व पाक के बीच जम्मू व कश्मीर को लेकर छिड़ा टकराव आज भी थम नहीं पाया है। भारत-पाकिस्तान की अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तान की ओर से प्रयत्न विराम का उल्लंघन किया जा रहा है। सीमा पर बेशक से तोप व बंदूकें अब शांत हो गई हो, लेकिन पाक की गोलीबारी के कारण आस-पास के इलाकों में गिरे गोले वहां के लोगों की जान की शत्रु बन गई है। सीमावर्ती इलाकों में किसी शख्स को गंभीर चोटें ना आए इसके लिए सैनिकों ने पहले ही लोकल लोगों को गोले ना छूने की चेतावनी जारी कर दी है।Image result for हिंदुस्तान व पाक के बीच जम्मू व कश्मीर को लेकर छिड़ा टकराव

अंतरराष्ट्रीय सीमा से लगे जम्मू, सांबा, कठुआ की कृषि भूमि व नियंत्रण रेखा से सटे दो जिलों राजौरी तथा पुंछ के लोगों को इस विषय में आगाह किया गया है। इन गोलों की वजह से होने वाली परेशानियों का सबब ऐसा है कि बाहर से अरनिया स्थित अपने घर आये सुखम चंद अपने मकान में नहीं जा सके, क्योंकि वहां मोर्टार का एक गोला गिरा हुआ था। कुछ देर बाद लोकल लोगों द्वारा सूचना दिए जाने पर पहुंचे सेना के अधिकारियों नें गोले को निष्क्रिय कर चंद की जान की सुरक्षा की।

चंद जैसा ही वाक्या कोरोटाना में देखने को मिला। कुछ दिनों पहले ही दलजीत सिंह नाम के एक शख्स के खेत में गोले गिरे हुए थे। खेत में गोले गिरे देख कर दलजीत घबरा गया व तुरंत पुलिस को सूचना दी। पुलिस के अनुसार, खेतों से कई ऐसे गोले मिले हैं, जिनमें गिरने के बाद विस्फोट नहीं हुआ। आर। एस। पोरा के एसडीपीओ सुरीन्दर चौधरी का कहना है कि आर। एस। पोरा व अरनिया सेक्टरों में गांवों व कृषि भूमि से हमने 30 गोले बरामद किए गए हैं। उन्होंने यह भी बताया कि इनमें से 11 गोले अरनिया सेक्टर व 19 आर। एस। पोरा सेक्टर से मिले। जिस तुरंत ही बम निरोधक दस्ते द्वारा निष्किय किया गया।

घाटी में दिनों-दिन बुरे रहे हालातों व घरों के इर्द गिर्द मिल रहे गोले से लोकल लोगों में खौफ का माहौल है। लोगों को खौफजदा करने के लिए पुलिस ने सेना को लेटर लिखकर बम निरोधक दस्ते का गठन करने व निष्क्रिय किए गए गोले कहां से आए इसका पता लगाने के लिए बोला है। बताते चलें कि पिछले दिनों जम्मू व कश्मीर के कई इलाकों में पाक द्वारा गोलीबारी की गई, जिसमें 3 लोगों की मौत की पुष्टि हुई थी। इंडियन सेना ने पाक को मुंहतोड़ जवाब देते हुए पाकिस्तानी सेना की कई चौकियों को तबाह किया था।

जम्मू-कश्मीर के सीमाई राजौरी जिले में पाकिस्तानी सेना की तरफ से अकसर होने वाली गोलीबारी एवं गोलाबारी को ध्यान में रखते हुए लोकल लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के उद्देश्य से गवर्नमेंट सीमाई इलाकों के करीब 54,000 लोगों के लिए 5,300 से ज्यादा पर्सनल एवं सामुदायिक बंकर बनाएगी। राजौरी के जिला विकास आयुक्त शाहिद इकबाल चौधरी ने बोला कि इस समय 100 बंकरों का निर्माण किया जा रहा है व गवर्नमेंट ने 4,918 पर्सनल एवं 372 सामुदायिक बंकरों के निर्माण की मंजूरी दी है।

The post हिंदुस्तान व पाक के बीच जम्मू व कश्मीर को लेकर छिड़ा टकराव appeared first on Poorvanchal Media Group.

Source: Purvanchal media