Viral

पूर्वांचल में समाजवादी पार्टी ने शुरू की नए सहयोगियों की तलाश….

समाजवादी पार्टी ने पूर्वांचल में नए सहयोगियों की तलाश शुरू कर दी है। अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव के पूर्व सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के जनवादी सोशलिस्ट पार्टी की रैली में बतौर मुख्य अतिथि शामिल होने के सियासी मायने निकाले जा रहे हैं। चौहान समाज के लोगों के बीच उन्होंने कहा कि वह जसोपा के लोगों को गले लगाने आए हैं। पार्टी के अध्यक्ष संजय सिंह चौहान को अपने भाई की तरह बताते हुए घोषणा की कि अगला चुनाव इनके साथ मिलकर लड़ेंगे। पृथ्वीराज चौहान के कई किस्से भी सुनाए और उन्हें महान सम्राट बताया। उन्होंने कहा कि देश में एकमात्र कन्नौज ऐसा जिला है, जहां संयोगिता मार्ग है। उन्होंने कहा कि पृथ्वीराज चौहान उसी रास्ते संयोगिता को लेकर गए थे। जनवादी सोशलिस्ट पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष गाजीपुर निवासी डॉ. संजय चौहान ने कहा कि चौहान समाज के लोग भाजपा को वोट देते रहे हैं। बदले में भाजपा सरकार ने हमारे लिए कुछ नहीं किया।

चौहान समाज के किसी भी प्रत्याशी को टिकट नहीं दिया गया। कई अन्य महापुरुषों की प्रतिमाएं लगवाई गई लेकिन पृथ्वीराज चौहान की प्रतिमा कहीं नहीं लगवाई गई। अब चौहान सपा के साथ हैं। अखिलेश यादव ने अपने भाषण में एक बार मुलायम सिंह यादव का नाम लिया। उन्होंने कहा, नेता जी कहते हैं कि सपाइयों की कथनी-करनी में अंतर नहीं होता। हम जो वादा करते हैं उसे पूरा करते हैं। लैपटॉप देने का वादा किया तो उसे पूरा किया।

सपा कार्यकर्ताओं को बाहर रखा गया

रैली में पार्टी ने वाराणसी, आजमगढ़ और मिर्जापुर मंडल से कार्यकर्ताओं को बुलाया था। वह अखिलेश के सामने अपनी ताकत दिखाना चाहते थे। इसलिए कहा था कि रैली में सपा कार्यकर्ता शामिल नहीं होंगे। पूर्व मंत्री एवं मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी, पूर्व मंत्री दुर्गा प्रसाद यादव, एमएलसी उदयवीर सिंह, विधायक प्रभुनाथ यादव, पूर्व सांसद रामकिशुन यादव, पूर्व मंत्री सुरेंद्र पटेल, डॉ. केपी यादव, जिलाध्यक्ष डॉ. पीयूष यादव, महानगर अध्यक्ष राजकमार जायसवाल अखिलेश यादव के साथ ही मंच पर पहुंचे।

Source: Gorakhpur times