National

वरिष्ठ नागरिकों को बजट में 12 हजार करोड़ रुपये का लाभ

ने बृहस्पतिवार को बोला कि बजट में वेतनभोगी वर्ग व वरिष्ठ नागरिकों को 12 हजार करोड़ रुपये का लाभ दिया गया है. उन्होंने इक्विटी पर दीर्घकालिक पूंजीगत फायदा कर (एलटीसीजी) लगाने को भी जायज ठहराते हुए बोला कि गवर्नमेंट मुश्किलों से निपटना जानती है.Image result for वित्त मंत्री ने बोला कि

एलटीसीजी को जायज ठहराया, कहा- नोटबंदी और GST से अर्थव्यवस्था को लाभ हुआ

वित्त मंत्री ने बोला कि नोटबंदी व GST से मध्यकालीन व दीर्घकालीन अर्थव्यवस्था को फायदा मिलेगा व राष्ट्र अगले वित्त साल से विश्व की सबसे तेजी से उभरने वाली अर्थव्यवस्था बन जाएगा. बजट 2018-19 पर चर्चा का जवाब देते हुए जेटली ने बोला कि मई 2014 में एनडीए की गवर्नमेंट बनने के बाद कई सारी चीजें बदली हैं. हमें जो चीजें विरासत में मिली थीं व जो चीजें हमने तैयार की हैं, वे बिल्कुल अलग हैं.

समझा जा रहा है कि हिंदुस्तान ने 0.1 प्रतिशत से पिछड़ते हुए सबसे तेजी से विकसित होने वाली अर्थव्यवस्था का दर्जा खो दिया है. इस बारे में जेटली ने बोला कि के मुताबिक हिंदुस्तान एक बार फिर यह दर्जा हासिल कर लेगा. कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधते हुए जेटली ने बोला कि यूपीए गवर्नमेंट के कार्यकाल में कोई इंडियन अर्थव्यवस्था के उज्ज्वल भविष्य की बात नहीं करता था. ऐसा इसी गवर्नमेंट में हुआ है. नोटबंदी के बाद कांग्रेस पार्टी ने विकास दर में 2 प्रतिशत की गिरावट का अनुमान लगाया था लेकिन यह महज 0.2 प्रतिशत गिरी है. इसके बाद ही पर्सनल इनकम टैक्स का आधार बढ़ा है व डिजिटलीकरण का विस्तार हो रहा है.

उन्होंने बोला कि बजट में उन्होंने हर वर्ग का ख्याल रखने की प्रयास की है व मध्यवर्ग तथा वरिष्ठ नागरिकों को भी राहत दी है. वेतनभोगी वर्ग को दी गई राहत का कुल खर्च 8 हजार करोड़ रुपये है वहीं पेंशनभोगी व वरिष्ठ नागरिकों को लाभ देने से सरकारी खजाने पर 4000 करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा. चुनौती के इस दौर में भी 12 हजार करोड़ रुपये की राहत देना महत्वपूर्ण था व मैंने पिछले चार बजट से यह परंपरा बरकरार रखी है.

The post वरिष्ठ नागरिकों को बजट में 12 हजार करोड़ रुपये का लाभ appeared first on Poorvanchal Media Group.

Source: Purvanchal media