दूध में छुहारा उबालकर खाने से दूर होगी शारीरिक कमजोरी

Lifestyle

इंटरनेट डेस्क। जैसे अंगूर का सूखा हुआ रूप किशमिश और मुनक्का होता है उसी तरह खजूर का सूखा हुआ रूप छुहारा होता है। पौष्टिकता से भरपूर छुहारा गर्म तासीर है इसलिए इसकी उपयोगिता सर्दियों में बढ़ जाती है। इसमें काफी मात्रा में विटामिन, मिनरल्स, फाइबर, आयरन और कैल्शियिम जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं। वहीँ जब छुहारे को दूध में मिलाकर खाया जाए तो लाभ दोगुना बढ़ जाता है। आइए जानिए इसके सेवन से मिलने वाले फायदे

छुहारे में कैल्शियम अच्छी मात्रा में पाया जाता है इसको नियमित रूप से खाने से हड्डियों की कमजोरी भी दूर होती है।


छुहारे का इस्तेमाल कब्ज से सम्बंधित बीमारियों के इलाज में भी किया जाता है। छुहारे का इस्तेमाल कब्ज में राहत देता है। सुबह-शाम दो छुहारे चबाकर खाएं और फिर गुनगुना पानी पी लें। ऐसा करने से कब्ज दूर होता है।

अस्थमा के रोगी के लिए भी छुआरे वाला दूध बहुत फायदेमंद होता है। रोजाना 2 से 4 छुआरों को दूध में उबालें और इसमें चीनी की जगह मिश्री मिलाएं। इस दूध का सेवन करने से शरीर को ताकत मिलती हैं और सांस की परेशानी दूर होती है। इसके अलावा छुआरे की तासीर गर्म होने से फेफड़ों और दिल को फायदा होता है।

अगर आपके शरीर में कमजोरी हो गयी हो तो उसमे भी छुहारा आपकी मदद कर सकता है। इसके लिए आपको आधा लीटर दूध में पांच छुहारे बीज निकाल कर डाल लेने है और इसे गर्म करना है। जब दूध 300 मिली रह जाए तब इसे निकाल कर मिश्री डाल कर पी लें। इसका लगातार सेवन करने से कमजोरी दूर हो जाती है।

छुआरे में पोटाशियम होता है जिससे पेट की कई समस्याएं ठीक होती हैं। रोजाना दूध के साथ छुआरे का सेवन करने से पाचन क्रिया ठीक होती है। इससे कब्ज, पेट दर्द और डायरिया जैसी परेशानियां नहीं झेलनी पड़ती।

सर्दी के दिनों में कई महिलाओं को मासिक धर्म से जुड़ी समसयाएं भी होती हैं। इसके लिए छुहारे फायदेमंद है। छुहारे खाने से मासिक धर्म खुलकर आता है और कमर दर्द में भी लाभ होता है।

अगर आपकी आवाज में भारीपन या आवाज साफ़ नहीं निकलती तो दूध में छुहारे उबालकर उस दूध को ठंडाकर पिए। दूध को पिने के बाद 1 घंटे तक पानी ना पिए। इससे आवाज साफ़ होती है।

Source: Rochak khabare