National

रक्षा उत्पादन क्षमता को संसार के सामने प्रदर्शित करेगा हिंदुस्तान

नई दिल्ली: ऐसा पहली बात होगा जब हिंदुस्तान अपनी रक्षा उत्पादन क्षमता को संसार के सामने प्रदर्शित करेगा। मौका होगा रक्षा प्रदर्शनी (डिफेंस एक्सपो) का जो चेन्नई में 11 से 14 अप्रैल तक आयोजित की जा रही है। इसमें हिंदुस्तान के अतिरिक्त दुनियाभर के करीब 50 राष्ट्र भाग लेंगे। रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि हिंदुस्तान इस डिफेंस एक्सपो में राष्ट्र में विकसित हेलीकॉप्टरों, विमानों, मिसाइलों व रॉकेटों का प्रदर्शन करने के अतिरिक्त पनडुब्बी, फ्रिगेट्स, कॉर्वेट आदि को पहली बार हिंदुस्तान संसार के समक्ष पेश करेगा। मालूम हो कि हिंदुस्तान रक्षा उपकरणों के बड़े आयातकों में से एक है व गवर्नमेंट विदेशी खरीद पर निर्भरता कम करने के लिए घरेलू रक्षा उद्योग को बढ़ावा देने की प्रयास कर रही है।Image result for रक्षा प्रदर्शनी (डिफेंस एक्सपो

डिफेंस एक्सपो में हिंदुस्तान का प्रतिनिधित्व करने वाले युद्धायुधो में – हल्का लड़ाकू विमान तेजस, अत्याधुनिक हल्का हेलीकॉप्टर ध्रुव, डोर्नियर विमान,155 मिमी एडवांस टोड आर्टिलरी गन,अर्जुन टैंक, टी-90 टैंक, टी-72 टैंक, ब्रह्मोस मिसाइल, आकाश मिसाइल, पिनाका रॉकेट्स, स्कॉर्पीन पनडुब्बी बनाने की क्षमता, मझगांव डॉक्स, गोवा शिपयार्ड, भारत शिपयार्ड व अन्य व्यक्तिगत शिपयार्डो की क्षमताएं का प्रदर्शन शामिल है।

गौरतलब है कि हिंदुस्तान में विकसित की गई तकनीकों के बल पर अब युद्ध सामग्री का बड़े पैमाने पर निर्माण राष्ट्र में ही हो रहा है जिससे रक्षा बजट बहुत ज्यादा कम हो गया है। उन्नत व हाई टेक टेक्नोलॉजी के जरिये अब हिंदुस्तान में ही विदेशी रक्षा उत्पादों के समान उत्पादों का निर्माण संभव हुआ है।

The post रक्षा उत्पादन क्षमता को संसार के सामने प्रदर्शित करेगा हिंदुस्तान appeared first on Poorvanchal Media Group.

Source: Purvanchal media