National

GDP के आंकड़े कहते हैं- मोदी की नोटबंदी का हश्र…

अर्थव्यवस्था पर लगातार बड़े-बड़े दावे कर रही केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की कलई जीडीपी के आंकड़ों ने पूरी तरह से खोलकर रख दी है. नोटबंदी और जीएसटी लागू होने से देश की जीडीपी में बड़ा गोता लगा है, तो सरकार का कहना है कि नोटबंदी का इससे कोई लेना-देना नहीं है. अगर थोड़ा पीछे जाकर देखें, तो नोटबंदी लागू होने के बाद जब संसद में इस पर बहस हो रही थी तब पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने सरकार पर इसको लेकर चेताया था. लगता है मनमोहन की चेतावनी सच साबित हो रही है..

राज्यसभा में क्या बोले थे मनमोहन?

नोटबंदी पर चर्चा के दौरान नंवबर 2016 में राज्यसभा में मनमोहन सिंह ने साफ कहा था कि नोटबंदी भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए खतरा है. इससे अर्थव्यवस्था कमजोर हो सकती है, वहीं जीडीपी में 2 फीसदी की गिरावट आ सकती है. पूर्व पीएम ने सीधा वार करते हुए कहा था कि मैं पीएम मोदी से पूछना चाहता हूं कि वह किसी ऐसे देश का नाम बताएं, जहां लोगों ने बैंक में अपने पैसा जमा कराए हैं लेकिन वे उसे निकाल नहीं सकते.

रोज बदलते नियम आपकी विफलता!

मनमोहन सिंह ने राज्यसभा में कहा था कि करेंसी सिस्टम में लोगों का भरोसा कम हुआ है, किसानों और छोटे उद्योगपतियों को भी बड़ा नुकसान हुआ है. सरकार हर दिन नए नियम बना रही है, जो कि साफ दर्शाता है कि PMO इस फैसले को लागू करवाने में असफल रहा. पीएम ने इसके लिए 50 दिन मांगे हैं, लेकिन गरीब व्यक्ति के लिए 50 दिन दर्द झेलना आसान नहीं है.

नोटबंदी: मनमोहन राज्यसभा में बोलते रहे, PM मोदी सुनते रहे, किए ये 12 बड़े वार

सच हुई मनमोहन सिंह की बात!

चालू वित्त वर्ष की जून में खत्म हुई तिमाही के दौरान देश की जीडीपी की वृद्धि दर में गिरावट दर्ज की गई है. जीडीपी का आंकड़ा गिरकर 5.7 फीसद पर आ गया है. वित्त वर्ष 2016-17 की पहली तिमाही के दौरान जीडीपी की रफ्तार 7.9 फीसदी थी. यानी नोटबंदी के बाद से लगातार जीडीपी में गिरावट आई है. एक साल में जीडीपी 7.9 से गिरकर 5.7 फीसद पर आ पहुंची है.

 

The post GDP के आंकड़े कहते हैं- मोदी की नोटबंदी का हश्र… appeared first on Poorvanchal Media Group.

Source: Purvanchal media
Click link to read original post
GDP के आंकड़े कहते हैं- मोदी की नोटबंदी का हश्र…