National

दोनों वीवीआईपी की सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर 8500 से अधिक पुलिस तैनात

पीएम नरेंद्र मोदी व फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों के 12 मार्च को वाराणसी आगमन के मद्देनजर एसपीजी के ऑफिसर नौ मार्च को शहर आ जाएंगे. इसके साथ ही केंद्रीय खुफिया व सुरक्षा इकाइयों के ऑफिसर भी आ जाएंगे. दोनों वीवीआईपी की सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर 8500 से अधिक पुलिस, पीएसी व सेंट्रल पैरामिलिट्री फोर्स के जवान तैनात किए जाएंगे.Image result for दोनों वीवीआईपी की सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर 8500 से अधिक पुलिस तैनात
फ्रांस के राष्ट्रपति के गंगा दर्शन के मद्देनजर सामने घाट से राजघाट तक घाटों किनारे रहने वालों का ब्यौरा जुटाने व वेरिफिकेशन का कार्य लोकल खुफिया इकाइयों ने प्रारम्भ कर दिया है.

इसी तरह घाट किनारे के होटल, लॉज, धर्मशाला, मठ, आश्रम व पेइंग गेस्ट हाउस भी खुफिया इकाइयों की निगरानी में है. सोमवार को सुरक्षा व्यवस्था के विषय में एडीजी जोन पीवी रामाशास्त्री व आईजी रेंज दीपक रतन ने एसएसपी रामकृष्ण भारद्वाज से जानकारी ली.

इसके साथ ही ड्रोन कैमरे की मदद से अस्सी से दशाश्वमेध घाट तक के एरिया का जायजा लिया गया. इस विषय में एसएसपी ने बताया कि सुरक्षा संबंधी कार्ययोजना को अंतिम रूप दिया जा रहा है. इसके साथ ही गंगा घाटों सहित धर्म, पर्यटन व पुरातत्व के दृष्टिकोण से जरूरी सभी स्थानों पर अलावा सतर्कता बरती जा रही है.
आगे पढ़ें
गंगा में गिर रहे 15 से अधिक नालों ने बढ़ाई प्रशासन की चिंता
फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुअल मैक्रों व पीएम नरेंद्र मोदी के गंगा में नौका विहार को लेकर प्रशासनिक अधिकारियों की चिंता बढ़ा दी है. दोनों नेता अस्सी घाट से दशाश्वमेध घाट तक नौक विहार करेंगे. इस दौरान पड़ने वाले सभी घाटों को सुन्दर ढंग से सजाया जाएगा व शहर की प्राचीनता को दर्शाया जाएगा.

दरअसल, प्रशासन गंगा में गिरने वाले नालों को एमैनुअल मैक्रों की नजरों से दूर रखना चाहता है. अस्सी घाट से दशाश्वमेध घाट तक गंगा में गिरने वाले 15 से अधिक नालों को कैसे ढका जाए या उन्हें कैसे रोका जाए, इसे लेकर सोमवार को मंत्री से लेकर ऑफिसर तक परेशान रहे. सभी वरिष्ठ अफसरों से पर राय मांगी गई.

वहीं पीएम की यात्रा से पहले गंगा में पानी छोड़ने के लिए सोमवार को शासन से फिर बातचीत की गई. राज्यमंत्री डॉ। नीलकंठ तिवारी ने यात्रा की तैयारियों के मद्देनजर सर्किट हाउस में मीटिंग की.

इसके बाद कमिश्नर नितिन रमेश गोकर्ण ने अपने कैंप ऑफिस में मीटिंग की. इस दौरान पीएम की आवाजाही के रूट 10 मार्च तक दुरुस्त करने का आदेश दिया गया. निगम को शहर में सफाई व्यवस्था व दुरुस्त करने को बोला गया. घाटों पर प्रशासनिक अधिकारियों को विशेष रूप से फोकस करने को बोला गया है.

डीएम योगेश्वर राम मिश्र ने पीएम मोदी की यात्रा के मद्देनजर व्यवस्था संभालने के लिए कमिश्नर से चार एडीएम व सात एसडीएम की मांग की है.

The post दोनों वीवीआईपी की सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर 8500 से अधिक पुलिस तैनात appeared first on Poorvanchal Media Group.

Source: Purvanchal media