उत्तराखंड : मृतप्राय नदियों के लिए बड़े जनांदोलन की तैयारी

International

देहरादून। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने देहरादून की मृतप्राय रिस्पना, कोसी आदि नदियों को पुनर्जीवन देने का बीड़ा उठाया है। नदियों के जीवन पर ध्यान देने की एक वजह राज्य में तेजी से बढ़ता पानी का संकट भी है। इस बार ही अक्टूबर दिसंबर और जनवरी फरवरी में जाड़े के दौरान होने वाली बारिश में 68 फीसदी की कमी दर्ज की गई है।

ये मामला गंभीर इस लिए भी है क्योंकि यह कमी सभी 13 जिलों में महसूस की गई है। पिछले साल भी जून से सितंबर तक मानसून के मौसम में 76 प्रतिशत पानी कम बरसा था। मौसम विभाग के आंकड़ों के अनुसार उत्तराखंड में जाड़े के मौसम में होने वाली 106 मिमी बारिश के अनुमान के विपरीत मात्र 34 मिमी बारिश दर्ज की गई है।

इसमें भी जनवरी में 17.5 मिमी व फरवरी में 16 मिमी बारिश दर्ज की गई है। इससे दोनो पहाड़ी मंडलों में स्थिति बद से बदतर होती जा रही है। हरिद्वार में 88 फीसद की गिरावट आयी जबकि पौड़ी गढ़वाल में 83 फीसद की गिरावट रही है। देहरादून और चमोली में 61 फीसद व अलमोड़ा में 64 फीसद व नैनीताल में 74 प्रतिशत की गिरावट रही है।

The post उत्तराखंड : मृतप्राय नदियों के लिए बड़े जनांदोलन की तैयारी appeared first on Newstrack Hindi.

Source: Newstrack hindi