Sports

सचिन और द्रविड़ पर भी लग चूका है बॉल टैंपरिंग का दाग, जानिए ऐसे 5 मामले

स्पोर्ट्स डेस्क। बॉल टैंपरिंग के कारण क्रिकेट को एक बार फिर से शर्मसार होना पड़ा है। साउथ अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच के दौरान ऑस्ट्रेलियाई टीम की बॉल टेंपरिंग करने की चारों ओर आलोचना हो रही है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में गेंद से छेड़छाड़ का ये पहला मौका नहीं है, इससे पहले भी क्रिकेट के इस खेल में कई बार गेद से खिलाड़ियों ने छेड़खानी करनी की कोशिशें की हैं। आइये जानते है ऐसे ही कुछ खिलाडियों के बारे में…

सचिन तेंदुलकर: 2001 में पोर्ट एलिजाबेथ में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सचिन पर आरोप लगा था कि उन्‍होंने बॉल के साथ छेड़छाड़ की। आईसीसी ने सचिन पर एक मैच का बैन लगाया था। हालांकि सचिन के खिलाफ आरोप साबित नहीं हुआ था और आईसीसी ने बैन वापस ले लिया था।

वकार यूनिस : साल 2002 में वकार यूनिस बॉल टेंपरिंग के दोषी पाए गए। श्रीलंका के खिलाफ वनडे के दौरान वकार पर गेंद की सीम से छेड़छाड़ का आरोप लगा। इसके बाद वकार पर एक वनडे का बैन लगाया गया. वो दुनिया के पहले गेंदबाज थे जिन पर बॉल टेंपरिंग के चलते बैन लगाया गया।

शाहिद अफरीदी: पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी बतौर कप्तान रहते हुए इस तरह के मामले में दोषी पाए जा चुके हैं। 2010 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी-20 मैच खेलते हुए अफरीदी पर जानबूझकर बॉल के साथ छेड़छाड़ का आरोप लगा। अफरीदी को दोषी पाया गया और उन्हें दो टी-20 मैच के लिए बैन भी कर दिया गया।

राहुल द्रविड़ : साल 2004 में जिम्बाब्वे दौरे पर राहुल द्रविड़ बॉल टेंपरिंग के दोषी पाए गए। द्रविड़ पर आधी खाई हुई मीठी गोलियों से गेंद को चमकाने का आरोप लगा। इसके बाद राहुल द्रविड़ पर भारी जुर्माना लगा दिया गया।

माइकल अथर्टन: इंग्लैंड की क्रिकेट टीम के तत्कालीन कप्तान माइकल अथर्टन को लॉर्ड्स में साउथ अफ्रीका के खिलाफ बॉल से छेड़छाड़ करते पाया गया था। जिसके बाद उन पर दो हजार पाउंड (करीब 2 लाख रुपए) जुर्माना लगा था।

The post सचिन और द्रविड़ पर भी लग चूका है बॉल टैंपरिंग का दाग, जानिए ऐसे 5 मामले appeared first on Fashion NewsEra.

Source: Fashion newsera

Samvadata
Samvadata.com is the multi sources news platform.
http://Samvadata.com