अपनी जॉब से करें प्यार

National

यह बात सबको समझ लेनी चाहिए कि अच्छी लाइफ के लिए आपको एक अदद अच्छी नौकरी या रोजगार की जरुरत रहती है। ऐसे में हमें अपना जॉब पूरे मन से करना चाहिए, बेमन से नहीं। हमें सोचना चाहिए कि हम क्यों नहीं इससे प्यार करते हैं और अच्छी लाइफ जीते हैं। क्या आप मौजूदा नौकरी से नफरत करते हैं, पर जरुरत के कारण नौकरी कर रहे हैं? यदि ऐसा है तो यह रवैया बदलें। जानते हैं कि कैसे आप अपनी नौकरी से प्यार करके जीवन को खुशहाल बना सकते हैं।

दूसरों की बातों को न दें तवज्जो

कई बार आप खुद से नहीं, दूसरों से परेशान होते हैं। जीवन में कई बार ऐसा होता है, जब आप सपनों को सिर्फ इसलिए पूरा नहीं कर पाते क्योंकि आप दूसरों के बारे में विचार करने लग जाते हैं। जीवन में दूसरे कभी यह तय नहीं कर सकते कि आप क्या कर सकते हैं और क्या नहीं। अगर आप कुछ पसंद करते हैं तो सीधे तौर पर उस काम को करने की कोशिश करें। अपने काम पर फोकस रहें। उसी में अपना मन लगाएं।

ये भी पढ़ें … मिशन एडमिशन : ड्रामा-थिएटर में बनाएं कॅरियर

खुद को कंट्रोल करना जरूरी

काम करने का तरीका सही रखें। वर्कप्लेस पर जिन कार्यों और स्थितियों को आप कंट्रोल करते हैं, उनकी लिस्ट बनाएं। यह आपकी टीम का आउटपुट, आपका सेल्स रूट, दिन के कार्यों का क्रम, सप्लाइज की खरीद, लोगों से मिलना, डेस्क को सजाना हो सकता है। इन कार्यों को सही तरह से पूरा करने की प्लानिंग करें। खुद को कंट्रोल कर काम करें।

महत्वपूर्ण काम पहले करें

आपको काम करने का तरीका बदलना होगा। जो काम ज्यादा महत्वपूर्ण होते हैं उनको पहले ही करें ताकि उसका तनाव आपको न परेशान करें। आप सेल्स कॉल कर सकते हैं, बॉस से मिल सकते हैं या अकाउंट्स का काम पूरा कर सकते हैं। इन कामों को सबसे पहले पूरा करें। इससे आप तनावमुक्त रह पाएंगे क्योंकि मन में विश्वास रहेगा कि अच्छा और इंपॉटेंट काम तो पहले ही पूरा कर चुके हैं।

उम्मीद न पालें

ऑफिस में आप अपने कलीग से उम्मीद न करें कि वह आपको काम में मदद करेगा। दिन का ऐसा समय चुनें, जब आप सबसे ज्यादा थके हुए या नाखुश हों। इस समय में ऑफिस में किसी कलीग की बिना अपेक्षा के मदद करें। साथियों की डेडलाइन में काम पूरा करने में मदद करें। कई बार आपको लगता है कि उसका काम अपने कराया तो वो भी कराएगा तो ऐसा न सोचें। इससे नुकसान हो सकत है। आप परेशान हो सकते हैं।

इमेज का बंधन तोड़ें

अगर आपकी सेल्फ इमेज और पहचान सिर्फ आपकी नौकरी से जुड़ी हुई है, तो आपको समस्या हो सकती है। कोशिश करें कि आपकी जॉब से इमेज न बनें। अगर खुद को सिर्फ अकाउंटेंट, सेल्स पर्सन, वकील या सीईओ के रूप में पेश करते हैं तो यकीन मानिए कि आप खुद को प्रोफेशनल दायरे से बाहर नहीं निकाल पाए हैं। अपनी ऐसी पहचान चुनें, जो सेल्फ-इमेज को मल्टी डायमेंशनल बना सके। इससे आपको लाभ मिलेगा और आप कई फील्ड में महारथ हासिल कर सकते हैं।

खुद की तारीफ करें

एक नोटपैड पर रोज के कार्यों को लिखें। छोटी-छोटी उपलब्धियों को सेलिब्रेट करें। जब भी आप कोई काम पूरा करें तो खुद को कोई न कोई रिवार्ड दें। अगर आप खुद की पीठ थपथपाते हैं तो आपका मूड बहुत तेजी से बदलता है। इससे आप काम को एन्जॉय करने लगते हैं।

अच्छे काम से करें दिन की शुरुआत

सुबह की शुरुआत पंद्रह मिनट पहले करें। इसके लिए कुछ अच्छा करें। अगर आपको मंदिर या किसी अन्य जगह जाना अच्छा लगता है तो जा सकते हैं। इसके अलावा इस समय का इस्तेमाल उन कामों के लिए करें जो आपको ऊर्जावान बनाते हों। आप एक्सरसाइज कर सकते हैं या न्यूजपेपर के साथ म्यूजिक सुन सकते हैं। म्यूजिक से इमोशन्स में बदलाव आता है जो तनाव कम करता है। सुबह की शुरुआत सही होगी, तो दिन अच्छा बीतेगा।

प्लान बनाकर काम करें

जब भी अच्छा काम करें तो अपनी तारीफ खुद से कर सकते हैं और आगे की रणनीति भी तैयार कर सकते हैं। अभी इस वक्त आपकी टेबल पर क्या रखा है? उसके प्रति आभार जताएं। आपको जो काम करने का मौका मिला है, उसके लिए धन्यवाद कहें। हर काम को यूं पूरा करें कि वह आपको अपने मकसद के थोड़ा और करीब ले जाए। खुद को मिली आजादी और मौकों के लिए कृतज्ञ रहें। हमेशा खुश रहें और दूसरों को भी खुश होने का मौका दें।

Source: Hindi Newstrack