सेब फ्लावरिंग ने बढ़ाई बागवानों की मुश्किलें

National

रामपुर बुशहर / विशेषर नेगी
हिमाचल प्रदेश के सेब बहुल इलाको में सेब के पौधों में फलवारिंग का दौर
शुरू हो गया है। इस बार पौधों में बीमे कमजोर और फूल कम खिलने से
बागवान चिंतित है की सेब की फसल कम होगी।

वर्तमान स्थिति के हिसाब से
निम्न और माध्यम ऊंचाई पर सेब की फ्लावरिंग बागवान उम्मीद से कम आंक
रहे है। बागवानों का कहना हैकि इस बार सर्दियों में बर्फ और बारिश कम
पड़ी जिस से पौधों को पर्याप्त ठंडक नहीं मिली। इस कारण बीमे भी कमजोर है
और सेब की फ्लावरिंग के बाद फूल झड़ने का खतरा अधिक है। वैसे भी पौधों
में फलवारिंग जिस हिसाब से होनी चाहिए उतनी नहीं है है। बागवानों का कहना
हैकि अगर सेब की फसल कम हुई तो सेब बागवानों की मुश्किलें बढ़ेगी। हिमाचल
में सेब का कारोबार चार हजार करोड़ से अधिक का होता है। ऐसे में हिमाचल
की बागवानी पर आधारित प्रमुख आर्थिक पर प्रतिकूल असर पड सकता है।
बागवानों ने सरकार से कर्जे माफ़ करने की भी मांग उठाई है। बागवानी
विशेषज्ञ भी इस बार के मौसम को देखते हुए सेब की फसल को ले कर आशावान
नहीं है। उन का कहाँ हैकि यही स्थिति रही तो सेब इस बार कम होगी। बागवान
कृष्ण गोपाल ने बताया सेब की फसल जो उन की रोजी है जिस पर लोग आश्रित है
। सर्दियों में बारिश और बर्फ न पढ़ने से सेब सेब की फ्लावरिंग सही
नहीं हो रही है पौधों में ठीक से फलवारिंग नहीं हो रही है। उन्होंने
किसानो की कर्ज माफ़ी की भी मांग की है। रणजीत चौहान ने बताया की इस बार
सेब बागवानों की उम्मीदों पर पानी फिरने वाला है। सर्दियों में बारिश और
बर्फ नहीं पड़ी।-चन्दर मोहन ने बताया इस बार फ्लावरिंग जल्दी शुरू हुई है
बारिश और बर्फ़बारी भी सर्दियों में कम हुई। लगता है सेब फसल कम होगी।
इस से कारोबार भी मंदा होने की संभावना है।
डॉ आरएस मिन्हास बागवानी विशेषज्ञ ने बताया इस बार अचानक तापमान में
बढ़ौतरी हुई है जिस से सेब सेटिंग में प्रभाव पद सकता है। दुसरा
फलवावरिंग भी समय से पूर्व शुरू हुई है।

The post सेब फ्लावरिंग ने बढ़ाई बागवानों की मुश्किलें appeared first on News Views Post.

Source: News views