गन्ने के मड से बायो सीएनजी बनाइए, S-GST में शत प्रतिशत छूट पाइए

National
लखनऊ : किसान या क्षेत्रीय उदयमी गन्ने की पेराई से निकलने वाली प्रेस मड से बायो-सीएनजी उत्पादन की परियोजना लगा सकते हैं। सात से आठ किग्रा प्रेस मड से एक घन मीटर बायोगैस या 425 ग्राम बायो-सीएनजी बनाई जा सकती है। इस्तेमाल किए गए प्रेस मड से 20 फीसदी खाद भी मिलेगी जो खेती की उर्वरा शक्ति बढ़ाएगी। चीनी मिलें खुद इसमें इनवेस्ट कर सकती हैं। सीएनजी बेचने के लिए पेट्रोलियम कम्पनियों से अनुबंध भी किया जा सकता है। इसके लिए उदयमियों को रियायतें देने का फैसला लिया गया है।
सरकार ने जैव ऊर्जा बेस्ड उदयमों की स्थापना के लिए अनेक रियायतें देने का निर्णय लिया है। जैसे S-GST और भूमि खरीद में स्टाम्प डयूटी पर शत प्रतिशत छूट की व्यस्था।किसाना गन्ने की सूखी पत्तियों को इकटठा कर ऐसे बायोमास से बायोकोल उत्पादन की इकाइयां लगा सकते हैं। यह बायोकोल ईंट भटठों को बेचा जा सकता है। इसके अलावा किसान गन्ने की अन्त: खेती के रूप में विभिन्न औषधीय और सगंध पौधों की खेती को भी अपना सकते हैं। किसानों को जैव ऊर्जा बेस्ड उदयम विकसित करने में बोर्ड मदद करेगा।
यहां से मिलेगी मदद
इन सभी उत्पादन इकाईयों के क्रियान्यवन में राज्य जैव ऊर्जा विकास बोर्ड मदद करेगा। इसके लिए बोर्ड के समन्वयक /सदस्य संयोजक से 0522—2236213 पर या बोर्ड की वेबसाइट bio-energy.up.nic.in पर सम्पर्क किया जा सकता है। अपने उदयम को आगे बढ़ाने के लिए गन्ना एवं चीनी आयुक्त कार्यालय के माध्यम से भी सहायता ली जा सकती है।
यह भी आ सकते हैं काम
प्रमुख सचिव चीनी उदयोग संजय आर भूसरेड्डी ने गन्ना एवं चीनी आयुक्त, एमडी उप्र सहकारी चीनी मिल संघ लि., एमडी उप्र राज्य चीनी निगम लि., निजी क्षेत्र की सभी चीनी मिलों और उप्र चीनी मिल्स एसोसिएशन के महासचिव को पत्र लिखा है। जिसमें इन उदयमों को बढ़ावा देने के लिए किसानों को प्रोत्साहित करने के लिए कहा गया है।

The post गन्ने के मड से बायो सीएनजी बनाइए, S-GST में शत प्रतिशत छूट पाइए appeared first on Newstrack Hindi.

Source: Hindi Newstrack