Lifestyle

पीठ के बल सुलाने से चपटे होते हैं शिशुओं के सिर!

वाशिंगटन: नवजात शिशुओं को मौत से बचाने के लिए पीठ के बल सुलाने का सुझाव उनके सिर के आकार को बदल सकता है। कनाडा में हाल ही में कराए गए एक अध्ययन में यह जानकारी सामने आई है कि दो महीने के लगभग 50 फीसदी शिशुओं के सिर पीठ के बल सुलाने से चपटे (पोजिशनल प्लाजियोसेफली) हो जाते हैं। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, अमेरिका की पत्रिका ‘पैडिएट्रिक्स’ में प्रकाशित इस अध्ययन के लिए कनाडा के केलगरी शहर मेंएक स्वास्थ्य केंद्र में उपचार के लिए आए सात से 12 सप्ताह के शिशुओं में पोजिशनल प्लाजियोसेफली के लक्षण ढूंढे गए।

पीठ के बल सुलाने से चपटे होते हैं शिशुओं के सिर!

कनाडा के माउंट रायल यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने 37 सप्ताह से अधिक समय में जन्म लिए 440 बच्चों का अध्ययन किया।

यह भी पढ़ें:   पानी पीने से आता है चेहरे पर निखार! जानिए सच्चाई…

इनमें से 46 फीसदी से अधिक शिशुओं का सिर चपटा पाया गया। लगभग 63 फीसदी का सिर दाईं तरफ चपटा था और 78 फीसदी शिशु के सिर का यह हिस्सा बेहद मुलायम था।

The post पीठ के बल सुलाने से चपटे होते हैं शिशुओं के सिर! appeared first on Poorvanchal Media Group.

Source: pURVANCHAL MEDIA
Click link to read original post
पीठ के बल सुलाने से चपटे होते हैं शिशुओं के सिर!

Samvadata
Samvadata.com is the multi sources news platform.
http://Samvadata.com