National

मोदी बोले- चंपारण ने मोहनदास करम चंद को गांधी बनाया

मोतिहारी: चंपारण सत्याग्रह शताब्दी समारोह के समापन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को मोतिहारी पहुंचे और स्वच्छता मिशन से जुड़े लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि चंपारण ने ही मोहन दास करम चंद को गांधी बनाया था । बिहार महान सपूतों की धरती है जिसने पूरे देश को को नई दिशा दी।

पीएम मोदी ने यहां के गांधी मैदान में देश भर से जुटे 20 हजार स्वच्छाग्रहियों में से कई को सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि यहां से ‘सत्याग्रह से स्वच्छाग्रह’ अभियान का आगाज भी होगा। दरअसल, महात्मा गांधी ने 10 अप्रैल 1917 को चंपारण सत्याग्रह किया था। इसकी याद में पिछले साल इसका शताब्दी समारोह शुरू किया गया था, बुधवार को इसका समापन किया जा रहा है। समारोह में गवर्नर सत्यपाल मलिक, सीएम नीतीश कुमार, रामविलास पासवान, राधामोहन सिंह और डिप्टी सीएम सुशील मोदी भी मौजूद थे।

ये क्या! वरुण धवन काट रहे मुंबई के एक होटल में सब्जी, जानें ऐसा क्यों….

मोदी ने करीब 20 हजार स्वच्छाग्रहियों को दिए अपने संबाेधन की शुुरुआत भोजपुरी में की और कहा कि चंपारण सत्याग्रह के समय चंपारण के लोगों के साथ मिलकर महात्मा गांधी ने सत्याग्रह की शुरुआत की थी। आज हम बापू के अभियान को आगे बढ़ा रहे हैं। जो लोग कहते हैं कि इतिहास खुद को दोहराता नहीं है। वो यहां आकर देख सकते हैं कि कैसे सौ वर्ष पहले का इतिहास आज भी साक्षात हमारे सामने मौजूद है। एक प्रकार से मेरे सामने वो स्वच्छाग्रही बैठे हैं जिनके अंदर गांधी के विचार-आदर्श का अंश जीवित हैं। मैं ऐसे सभी स्वच्छाग्रहियों के भीतर मौजदू गांधीजी के अंश को शत-शत प्रणाम करता हूं।

मोदी ने कहा कि चंपारण की पवित्र भूमि पर जनांदोलन की तस्वीर दुनिया ने सौ साल पहले देखी थी। सौ साल पहले चंपारण में देशभर से लोग आए थे। गांधीजी के नेतृत्व में गली-गली जाकर काम किया। सौ वर्ष बाद आज उसी भावना पर चलते हुए देश के अलग-अलग हिस्सों के आए लोगों ने यहां के उत्साही नौजवानों और स्वच्छाग्रहियों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर दिनरात काम किया है। आज इस विशाल समूह में कोई कस्तूरबा है, कोई राजकुमार शुक्ल है, कोई गोरखप्रसाद है, कोई हरिवंश राय है, कोई डॉ. राजेंद्र बाबू है।

मोदी ने कहा, ‘‘सौ वर्ष पहले जिस सत्याग्रह ने ऐसे महान व्यक्तियों ने उनके जीवन को नई दिशा दे दी, वैसे ही यह स्वच्छाग्रह आप जैसे लोगों के जीवन को नई दिशा दे रहा है। चलो चंपारण इस नारे के साथ हजारों स्वच्छाग्रही देश के कोने-कोने से आकर यहां जुटे हैं। आपके उस उत्साह और उमंग और ऊर्जा को, राष्ट्र निर्माण के प्रति आपकी आतुरता को, बिहार के लोगों की अभिलाषा को मैं प्रणाम करता हूं।

मोदी बोले कि मोतीझील की सुंदरता गांधी के समय के बाद से लगातार कम हुई है हालांकि अब नई मुहिम से इसका जीर्णोद्धार एवं सौंदर्यीकरण किया जाएगा। स्वच्छ पेयजल के लिए बेतिया में भी प्रोजेक्ट का शिलान्यास किया गया है। मोदी बोले कि गंगा तट पर स्थित गांवों को प्राथमिकता के आधार पर खुले में शौच से मुक्त बनाया जा रहा है। कचड़ा प्रबंधन भी लागू किया जा रहा है। जल्द ही गंगा तट खुले में शौच से मुक्त हो जाए।

मोदी बोले कि घर या फैक्ट्री के गंदे पानी को गंगा में जाने से रोकने के लिए बिहार में अब तक 3 हजार करोड़ से ज्यादा के 11 प्रोजेक्ट की मंजूरी दी जा चुकी है। इस राशि से 1100 किलोमीटर से लंबी सीवेज लाइन बिछाने की योजना है।

मोदी बोले कि स्वच्छ ईंधन के लिए उज्ज्वला योजना को बढ़ावा दिया जा रहा है। स्वच्छ ईंधन पर जोर और उज्जवला योजना की सफलता की वजह से सिलेंडर की मांग भी बढ़ी है। चंपारण और आसपास के लोगों को गैस सिलेंडर की दिक्कत ना हो, इसके लिए मोतिहारी और सुगौली में LPG प्लांट लगाने के प्रोजेक्ट्स का आज शिलान्यास आज किया गया है।

पिछले एक हफ्ते में बिहार में 8 लाख 50 हजार से ज्यादा शौचालयों का निर्माण किया गया है। ये गति और प्रगति कम नहीं है। मोदी ने कहा कि बिहार एक मात्र ऐसा राज्य था, जहां स्वच्छता का दायरा 50% से कम था ,लेकिन मुझे बताया गया कि एक हफ्ते के स्वच्छाग्रह अभियान के बाद बिहार ने इस बैरियर को तोड़ दिया।

मोदी ने आईएएस की नौकरी छोड अमेरिका जा बसे परमेश्वर जी अय्यर की तारीफ की और कहा कि मेरी अपील पर परमेश्वर जी भारत आये । चाहते तो नहीं आते क्योंकि अमेरिका में उनकी आराम की जिंदगी थी । उनके आने पर केंद्र सरकार ने स्वच्छता का काम सौंपा जिसे वो बडी खूबसूरती से अंजाम दे रहे हैं । उन्होंने मोदी के भाषण का लाइव प्रसारण कर रहे खबरिया चैनलों से अपील की कि वो परमेश्वर जी को टीवी पर दिखायें ।उन्होंने कहा कि बिना किसी प्रचार के परमेश्वर अपना काम करते हैं।

पीएम मोदी ने मोतिहारी पहुंचने पर महात्मा गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री को मधुबनी पेंटिंग भेंट की। पीएम ने रिमोट से पांच योजनाओं का उद्घाटन किया।

1186 करोड़ की हैं पांचों परियोजनाएं
प्रधानमंत्री ने मोतिहारी से जिन 5 योजनाओं की नींव रखी उनकी कुल लागत1186.06 करोड़ रुपए है। इनमें से 1164 करोड़ रुपए राजधानी पटना के लिए शुरू होने वाली 4 परियोजनाओं पर खर्च किए जाएंगे। इससे यहां 381.7 किलोमीटर लंबाई के 3 सीवरेज नेटवर्क तैयार होंगे। इसके अलावा मोतिहारी के मोतीझील का पुनर्विकास किया जाएगा।

ये काम भी शुरू होंगे

मोतिहारी के मोतीझील के सौंदर्यीकरण पर खर्च 21.99 करोड़
– बेतिया नगर परिषद जलापूर्ति योजना।
– सुगौली में एलपीजी प्लांट।
– मुजफ्फरपुर-सुगौली रेलवे लाइन दोहरीकरण।
– मोतिहारी में एलपीजी टर्मिनल।
– चंपारण हमसफर ट्रेन को हरी झंडी।

मधेपुरा इलेक्ट्रिक लोकोमोटिव फैक्ट्री में तैयार पहले रेल इंजन को प्रधानमंत्री राष्ट्र को समर्पित करेंगे। 12000 हॉर्स पावर के इस इलेक्ट्रिक इंजन से रेल गाड़ियों की रफ्तार बढ़ जाएगी।

मोदी ने 2 महीने में 10 वार्ड को शौचमुक्त करने वाली रिंकू का सम्मान किया । रिंकू कुमारी गिरियक ब्लॉक (नालंदा) के अदमपुर पंचायत की हैं। चूड़ी बनातीं हैं। स्‍वच्‍छाग्रही बनीं।

सिर्फ दो महीने में उन्‍होंने अपने पंचायत के 10 वार्ड को शौचमुक्त कर दिया। मोदी ने उन्हें सम्मानित किया ।

The post मोदी बोले- चंपारण ने मोहनदास करम चंद को गांधी बनाया appeared first on Newstrack Hindi.

Source: Hindi Newstrack

Samvadata
Samvadata.com is the multi sources news platform.
http://Samvadata.com