CAG Audit: कूड़ा प्रबंधन में करोड़ों का खेल, सीएजी के खुलासे से अधिकारियों में मचा हड़कंप

National

मनोज द्विवेदी 

लखनऊ: यूपी के नगर निगमों में कूड़ा निस्तारण, स्वच्छता और सुविधाओं के नाम पर हर योजना में करोड़ों का घोटाला होता है। सीएजी की ताजा रिपोर्ट में लखनऊ नगर निगम की पोल खोल दी है। अधिकारी भागे-भागे फिर रहे हैं और सारा ठीकरा निजी कम्पनी पर फोड़ने की तैयारी कर ली गयी है। आप भी जाने लखनऊ में कैसे हुआ कूड़ा निस्तारण में घोटाला।

यह है पूरा मामला 

यह मामला मार्च 2007 में कूड़ा निस्तारण प्लांट के लिए जारी 42 करोड़ 92 लाख रुपये का है। कूड़ा प्लांट के लिए उस समय के अधिकारियों ने 2010 में दशहरी गांव का चयन किया। निर्माण कार्य शुरू होने से पहले ही गांव को फलपट्टी क्षेत्र घोषित कर दिया गया। इसके बाद शिवरी के पल्हेंदा सड़क पर प्रॉजेक्ट के लिए जगह मिली। यहां पर कार्य अप्रैल 2011 से दिसंबर 2012 के बीच काम पूरा हुआ। जगह बदलने की इस जद्दोजहद में प्रोजेक्ट का कुल बजट करीब 10 करोड़ रूपये बढ़ गया।

क्या है मौजूदा स्थिति 

अक्टूबर 2010 के अनुबंध के मुताबिक सीएंडडीएस कंपनी को दिसंबर 2011 तक कूड़ा निस्तारण संयंत्र को पूरी क्षमता से चलाना था। लेकिन यह काम मई 2016 तक काम पूरा नहीं हो सका। बिजली कनेक्शन के करीब 2 करोड़ रूपये लेसा में जमा नहीं किया गया जिसकी वजह से पूरा प्लांट कभी भी पूरी क्षमता से नहीं चल पाया।

गलत तरीके से बढ़ाया टिपिंग शुल्क 

करार के अनुसार शुरुआती तीन वर्षों के लिए टिपिंग शुल्क की दर 562 रुपये प्रति मीट्रिक टन तय की गई थी। शुरू में यह दर तीन साल के लिए तय की गयी. फिर अधिकारीयों और निजी कम्पनी की मिलीभगत से टिपिंग शुल्क में तीन गुना बढ़ोत्तरी कर दी गयी। ऑडिट रिपोर्ट में 1604 रूपये प्रति मीट्रिक टन की टिपिंग शुल्क को गलत बताया गया है। इतना ही नहीं घरों से भी बिना किसी लिखा पढ़ी और दस्तावेज मेंटेन किये लोगों से कूड़ा उठाने के नाम पर वसूली की गयी जिसे गलत माना गया है।

जल्द होगी कार्रवाई

इतने बड़े पैमाने पर गड़बड़ियां साबित होने के बाद प्रॉजेक्ट से जुड़े रहे अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग तेज हो गई है। नगर निगम के आगामी सदन में पार्षदों की तरफ से इसे बड़ा मुद्दा बनाया जा सकता है. नगर आयुक्त उदयराज सिंह ने बताया कि इस प्रोजेक्ट की कार्यदायी संस्था सीएंडडीएस थी। हमने नोटिस भेजकर कम्पनी से जवाब माँगा है. जवाब मिलने के बाद विधानसभा की समिति को सूचित किया जाएगा।

 

The post CAG Audit: कूड़ा प्रबंधन में करोड़ों का खेल, सीएजी के खुलासे से अधिकारियों में मचा हड़कंप appeared first on Newstrack Hindi.

Source: Hindi Newstrack