18अप्रैल से शनि की बदली चाल, इन लोगों को रहना होगा सावधान

National

जयपुर:शनि 18 अप्रैल (बुधवार) को अपनी चाल बदलकर धनु राशि में वक्री होने वाले हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सूर्य पुत्र शनि धनु राशि में वक्री होंगे। शनि इस स्थिति में 6 सितंबर 2018 तक रहेंगे। ऐसे में जिन दो राशियों पर शनि की ढैय्या चल रही है उस पर और भी खतरनाक प्रभाव पड़ने वाला है। इसके अलावा और भी कई राशियां हैं जिस पर शनि की वक्री का आंशिक या अधिक प्रभाव पड़ेगा। ज्योतिष के अनुसार शनि के वक्री होने से शनि की ढैय्या से पीड़ित राशियों पर बेहद खतरनाक प्रभाव पड़ेगा।

यह पढ़ें…SPIRITUAL: बाघाम्बर धारी क्यों है भगवान शिव, इसमें दिया है इसके पीछे का रहस्य

मेष शनि का वक्री आपके लिए कुछ मामलों में अशुभ साबित होगा। शनि की वक्री के दौरान आपको अनावश्यक भागदौड़ का सामना करना पड़ेगा। मेहनत का मनोनुकूल फल प्राप्त नहीं होगा। वक्री के दौरान अनावश्यक गुस्से के दौड़ से गुजरेंगे। शनि के इस वक्री के दौरान यात्रा जोखिम भरा रहेगा। फिजूलखर्ची की अधिकता रहेगी। इस दौरान तनाव भी रहेगा।
वृष ज्योतिष शास्त्र के अनुसार वृष राशि में अभी शनि की ढैय्या चल रही है। अब शनि के मार्गी होने पर आपका पारिवारिक जीवन कष्टमय हो सकता है। यह भी हो सकता है कि आपके पारिवारिक जीवन में उथल-पुथल हो। इसलिए शनि के वक्री की अवधि में आपको पूर्ण सावधानी बरतनी होगी। शनि के वक्री की अवधि में किसी शनिवार को गरीबों के बाच कपड़ों और जूतों का वितरण करें।

मिथुन आपके लिए शनि क वक्री बेहद खास साबित होगा। शनि वक्री के दौरान आपको किसी महत्वपूर्ण पद की प्राप्ति हो सकती है। सरकारी लाभ भी मिलने की पूरी संभावना है। अधूरे कार्य पूरे हो सकते हैं। शत्रुओं को पराजित करेंगे। शुभ कार्यों में अधिक रुचि रहेगी।

कर्क शनि की वक्री के दौरान आपको लंबे समय के रूके हुए कार्यों में सफलता मिलेगी। शनि की वक्री की पूरी अवधि में मन प्रसन्न रहेगा। रिश्तेदार और प्रतिष्ठित लोग आपकी सराहना करेंगे। कार्यक्षेत्र में अनुकूल वातावरण दिखेगा। शनि की वक्री के दौरान पदोन्नति की प्रबल संभावना है।

सिंह शनि की वक्री के दौरान आपको मेहनत ज्यादा करनी होगी। पारिवारिक खर्च का बजट बढ़ने से तनाव की आशंका है। महत्वपूर्ण कार्यो के पूरे होने में समय लग सकता है। बीमारी की आशंका से तनाव रहेगा।

कन्या शनि की वक्री की अवधि में आपको अपने निवास स्थान में बदलाव मुमकिन है। आपको अपने क्रोध में नियंत्रण रखना चाहिए, अन्यथा काम बिगड़ सकता है। इस अवधि के दौरान कोई भी ऐसा काम ना करें जिससे आपकी शांति भंग हो जाए। आपके परिवार में जमीन-जायदाद से संबंधित विवाद पैदा हो सकते हैं। हनुमान जी को सिंदूर अर्पित करना आपके लिए हितकर रहेगा।

तुला शनि की वक्री के दौरान विरोधी आपको परेशान करेंगे। पारिवारिक साझेदारों में विवाद हो सकता है। इस दौरान सम्मान में कमी होगी। अपनों की उपेक्षा से मानसिक कष्ट रहेगा। थकान अनुभव करेंगे।

वृश्चिक राशि में अभी शनि की साढ़ेसाती चल रही है। शनि की वक्री वृश्चिक राशि के जातकों को प्रभावित करेगा। परिवार में किसी कारण मनमुटाव हो सकता है। साथ ही पारिवारिक जीवन में परेशानी बनी रहेगी। विपरीत परिस्थितियों में आपको धैर्य से कम लेना होगा। हो सकता है कि आपको किसी कारणवश परिवार से दूर रहना पड़े।
धनु का राशि के लिए शनि का वक्री आपके लिए परेशानी का कारण बन सकता है। शनि की वक्री के दौरान आपको मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा। मानसिक तनाव से भी परेशान हो सकते हैं। शनि की वक्री की अवधि के दौरान आपको नशा सेवन से बिल्कुल बचना चाहिए। हनुमानजी की आराधना से लाभ प्राप्त होगा।

मकर राशि के जातकों के लिए शनि के वक्री का समय परेशानियों भरा हो सकता है। आपको स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से गुजरना पड़ सकता और खर्चों में भी वृद्धि मुमकिन है।
विदेश यात्रा के योग बन सकते हैं। यह समय आपके लिए अनुकूल रहने वाला है। शनिवार को हनुमान चालीसा का पाठ अवश्य करें।
कुंभ शनि का वक्री आपके लिए शुभ है। किसी बड़े पड़ की प्राप्ति हो सकती है। अधिक धन का संग्रह होगा। वक्री के दौरान शत्रु आपसे पराजित होंगे। किसी पुराने काम में सफलता मिलेगी। शुभ समाचार मिलने की संभावना है।

मीन अनावश्यक धन हानि हो सकती है। बेकार के जिद से परेशानी में पड़ सकते हैं। किसी अपरचित से ठगा महसूस करेंगे। अत्यधिक जिद से हानि होगी। पद-प्रतिष्ठा में कमी हो सकती है।

The post 18अप्रैल से शनि की बदली चाल, इन लोगों को रहना होगा सावधान appeared first on Newstrack Hindi.

Source: Hindi Newstrack