Sports

कुशीनगर हादसा:जब निकली फूलों की अर्थी,एक ही घर के दो बच्चो का एक साथ निकला जनाजा,माँ रोते हुए पूछ रही:-मेरे बेटे का क्या कसूर था..???

गुरुवार को कुशीनगर में हुए हादसे में एक ही परिवार के दो बेटे इस संसार को छोड़ चले गए।।कुशीनगर के विशुनपुरा थाने के पड़रौना मडुरही के रहने वाले हैदर ने अपने दो बच्चे के जनाजे को अपना कंधा दिया तो लोगो के मुंह से आह निकल गई और जनाजे में शामिल लोगो के आंखों से भी नीर की धारा बह रही थी।।इस दृश्य को देख कलेजा मुँह को आ गया।।हैदर के दोनों बेटे कामरान व फरहान की इस घटना में मौत हो गई।।

कुशीनगर के इस हृदय विदारक घटना में अपने दो बच्चे को खो देने वाली हैदर की पत्नी का बुरा हाल है वो सदमे में है।।बच्चे की माँ का रो-रोकर बुरा हाल है,आस-पास पड़ोस में भी मातम छाया हुआ है।।माँ का सिर्फ यही कहना है कि “मेरे बेटे का क्या कसूर था..??”।।आपको बता दे कि हैदर दुबई में काम करते है पर घटना की सूचना मिलने पर कल वो गांव पहुचे तो अपने बेटों के जनाजे को कंधा दिया।

Source: Gorakhpur times

Samvadata
Samvadata.com is the multi sources news platform.
http://Samvadata.com