Sports

आह आजम खां!यह क्या से क्या हो गया है ?

लखनऊ मुलायम के दुलारे और अखिलेश के लिये न्यारे रहे जनाब मोहम्मद आजम खाॅ की हालत पर और चाहे किसी को भी रोना न आये, लेकिन मुझे तो तरस आ रहा है। इसलिये कि मैंने उनका जलजला देखा है। क्या जमाना था कि उन्हें एक छींक भर आ जाने से सारे यदुवंशियों की नींद हराम हो जाती थी। खुद मुख्य मंत्री रहे अखिलेश यादव उन्हें देखने के लिये हर काम छोडकर उनके सरकारी दौलतखाने में नंगे पैर दौडे चले आते रहे हैं और उस समय तक वहां से उठने का नाम नहीं लेते थे, जब तक खाॅ साहब के चेहरे पर मुस्कान देखकर उन्हें तसल्ली नहीं हो जाती थी। आज उन्हीं खाॅ साहब को तलब कर एस.आई.टी.ने  दो घंटे तक उनसे रगडंती रवैये से पूछताझ की। 

इस दौरान आजम खान के करीबी पूर्व सचिव ;नगर विकासद्ध एसपी सिंह मौजूद थे। एसपी सिंह और आजम खान को आमने.सामने बैठाकर पूछताछ की गई। मामला जल निगम चर्चित भर्ती घोटाले का था। 

.बहरहाल, एस.आई.टी. से छुटकारा पाने के बाद खाॅ साहब ने अपने गुस्से का सारा गुबार भाजपा पर निकालते हुए आरोप लगाया कि वह उनके दामन पर दाग लगाना चाहती है। उन्होंनं कोई गलत काम नही किया। उन्होंने बच्चो को नौकरी दी है। यह सरकार मेरे दामन पर कालिख पोतना चाहती है।.एसआईटी के सामने पेश होने से पहले आजम खान ने कहा. ष्सरकार कुछ करे या ना करे कम से कम चोरों की फेहरिस्त में तो मेरा नाम दे दिया। इतना तो कर सरकार अपमानित कर चुकी है।

उल्लेखनीय है कि .इस मामले में 122 असिस्टेंट इंजीनियर को सरकार बर्खास्त कर चुकी है। इससे पहले 22 सितंबर को एसआईटी का जल निगम के हेडक्वार्टर पर छापा पड़ा था। 5 दिसंबर को तत्कालीन एमडी पीके आसुदानी से पूछताछ हुई थी। अब तक इस मामले में 8 अफसरों के बयान एसआईटी दर्ज कर चुकी है।
.इस संदर्भ में यह बताना जरूरी है कि अखिलेश सरकार में आजम खान जल निगम विभाग के मंत्री थे। उस दौरान उनके विभाग में 1300 पदों पर भर्तियां हुई थीं। इन भर्तियों में उनके उपर के भ्रष्टाचार के आरोप लगे है कि भर्ती के दौरान नियमों को दरकिनार करते हुए गलत नियुक्तियां की गईं।

इस मामले में अब तक पूर्व नगर विकास सचिव एसपी सिंह के बयान भी दर्ज हो चुके हैं। आईएएस एसपी सिंह अब रिटायर हो चुके हैं। वहीं आजम खान के ओएसडी रहे आफाक भी बयान दर्ज करा चुके हैं। 

               

(function (d, s, id) {
var js, fjs = d.getElementsByTagName(s)[0];
if (d.getElementById(id)) return;
js = d.createElement(s); js.id = id;
js.src = “http://connect.facebook.net/en_GB/sdk.js#xfbml=1&version=v2.4”;
fjs.parentNode.insertBefore(js, fjs);
} (document, ‘script’, ‘facebook-jssdk’));

Source: Gorakhpur times

Samvadata
Samvadata.com is the multi sources news platform.
http://Samvadata.com