National

20 आतंकवादियों और 13 सुरक्षकर्मियों समेत 51 लोग की मौत

गोलियों की गूंज के साथ प्रारम्भ हुआ अप्रैल गोलियों की गूंज के साथ बीत गया.कश्मीर में आतंकवादी हिंसा  हिंसक प्रदर्शनों में 20 आतंकवादियों  13 सुरक्षाकर्मियों समेत 51 लोग मारे गए. इनमें 18 नागरिक शामिल हैं. आठ वर्ष में यह पहला मौका है, जब आतंकवादी हिंसा में किसी एक माह में 50 लोग मारे गए हों.

Image result for 20 आतंकवादियों और 13 सुरक्षकर्मियों समेत 51 लोग की मौत

अप्रैल, 2018 की पहली प्रातः काल जब सूरज उगा था तो दक्षिण कश्मीर के शोपियां  अनंतनाग में गोलियां गूंज रही थीं. तीन भीषण मुठभेड़ों में 13 आतंकवादी मारे गए थे. एक अनंतनाग में मरा था, जबकि 12 शोपियां में हुई दो मुठभेड़ों में. इन मुठभेड़ों में तीन सैन्यकर्मी भी शहीद हुए. इस दौरान भड़की हिंसा में चार नागरिक भी मारे गए  150 से ज्यादा लोग जख्मी हुए. अप्रैल के अंतिम दिन दो आतंकवादियों के अतिरिक्त चार नागरिकों समेत छह लोग मारे गए.

पिछले माह मारे गए 20 आतंकवादियों में समीर टाइगर, आकिब मुश्ताक खान, जुबैर अहमद तुर्रे, नाजिम नजीर डार, रईस अहमद ठोकर, उबैद शफी मल्ला, आदिल अहमद ठोकर, यावर अहमद यत्तु, इश्फाक अहमद मलिक, एत्तमाद हुसैन डार, इश्फाक अहमद ठोकर, समीर अहमद, मोहम्मद अब्बास, वसीम अहमद, इश्फाक अहमद, मुसविर अहमद, इश्फाक अहमद, आबिद अहमद के नाम प्रमुख हैं.

मई की आरंभ में भी गोलियों से गूंजा कश्‍मीर

सेना की लगातार कार्रवाई से बौखलाए आतंकवादी अब जम्मू व कश्मीर की आम जनता को अपना निशाना बना रहे हैं. लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादियों ने सोमवार को बारामुला (जम्मू कश्मीर) के ओल्ड टाउन एरिया में तीन लोकल युवकों की गोली मारकर मर्डर कर दी. आतंकवादियों को पकड़ने के लिए पुलिस ने तलाशी अभियान छेड़ दिया है. मारे गए तीनों युवक आपस में दोस्त थे. इनकी पहचान आसिफ अहमद शेख, हसीब अहमद शेख  मोहम्मद असगर के रूप में हुई है. बताया जाता है कि तीनों इकबाल बाजार बारामुला के दुकान के बाहर बैठे हुए थे. आकस्मित वहां तीन आतंकवादीआ गए. आतंकवादियों ने इन्हें बचाव का कोई मौका नहीं दिया  अंधांधुंध गोलियां बरसाईं. तीनों दोस्त मौके पर ही मारे गए. इसके बाद आतंकवादी वहां से भाग निकले.

ड्रोन रखेगा आतंकवादियों पर नजर, कमांड मिलते ही कर देगा ढेर

आए दिन बॉर्डर पर राष्ट्र के वीर जवानों की शहादत से आहत जालंधर में चरणजीतपुरा के ईशान अग्रवाल ने फोटोम आई नाम का एक ऐसा ड्रोन मॉडल बनाया जो न केवल दुश्मनों पर नजर रखेगा, बल्कि कमांड देने पर उसे वहीं ढेर कर देगा. साल 2016 में डेविएट से बीटेक करने वाले ईशान ने बताया कि पिछले वर्ष उसने जनवरी में इस मॉडल पर कार्य करना प्रारम्भ किया था. तब मैंने टीवी पर देखा कि बिना किसी बड़ी लड़ाई के भी बॉर्डर पर घुसपैठ रोकने या गोलीबारी में ही हमारे जवान अपनी जान गंवा रहे हैं. तब मैंने सोचा क्यों न ऐसा कुछ बनाया जाए कि मशीन के जरिए दुश्मनों पर नजर रखी जाए.

The post 20 आतंकवादियों और 13 सुरक्षकर्मियों समेत 51 लोग की मौत appeared first on Poorvanchal Media | Purvanchal News | UP News | Hindi Khabare |.

Source: Purvanchal media