किसान सभा दुग्ध उत्पादकों को संगठित कर आंदोलन की रह पर

National

रामपुर बुशहर / विशेषर नेगी

हिमाचल किसान सभा ने 11 जून को दुग्ध उत्पादकों को सड़को पर उतरने की
प्रक्रिया तेज कर दी है। इस के लिए समूचे क्षेत्र में नुक्क्ड़ सभाओ के
माध्यम से लोगो को संगठित कर एकजुट किया जा रहा है। इसी कड़ी में निरमंड
किसान भवन में किसान सभा पूर्व राज्य महासचिव डॉक्टर ओंकार शाद बताया
आज देश में किसानी करना घाटे का सौदा बन गया है। हालात ऐसे हो गए हैं कि
किसानों को लागत ज्यादा और आमदनी कम हो रही है। केंद्र व प्रदेश में आए
दिन किसानों। को मिलने वाली सब्सिडी समाप्त की जा रही है। गांव में
किसान पशुपालन करते हुए दूध बेचते हैं ,परंतु सरकार की अनदेखी के चलते
दूध की कीमत पानी की बोतल से कम है। सरकार महिला सशक्तिकरण की बात करती
है जबकि इस व्यवसाय में ज्यादातर महिलाओं की भागीदारी है। खास कर्त
क्षेत्र में महिलाओं के लिए रोटी का साधन भी दुग्ध उत्पादन है। उन्होंने
कहा दूध की कीमत दुग्ध उत्पादक को गांव में 16 से 20 रूपये दिया जाता
है। इससे किसान को अपनी मेहनत का मेहनताना भी नहीं मिल रहा है. किसान
सभा की बैठक को सम्बोधित करते हुए किसान सभा जिला महासचिव देवकी नंद ने
कहा दूध उत्पादकों की समस्याओं को लेकर 11 जून को रामपुर ,निरमंड, आनी
,नारकंडा, करसोग व् ननखड़ी में खंड स्तर पर प्रदर्शन कर प्रदेश सरकार को
मांग पत्र भेजा जाएगा ,उन्होंने कहा कि किसान सभा दुग्ध उत्पादकों को
संगठित करते हुए गांव गांव में प्रचार कर रही है और संघर्ष के लिए तैयार
किया जा रहा है। बैठक में हिमाचल किसान सभा निरमंड इकाई के अध्यक्ष पूर्ण
ठाकुर, सह सचिव जगदीश, शिवा देवी ,विद्या, राजकुमारी ,कांता देवी ,सरोज,
लीला, सुषमा देवी ,शिवानी, कांता, ममता, प्रेम सिंह ,,ओमप्रकाश ,अनूप
राम, उषा देवी, राजकुमारी आदि उपस्थित थे।

The post किसान सभा दुग्ध उत्पादकों को संगठित कर आंदोलन की रह पर appeared first on News Views Post.

Source: News views