कर्नाटक: इस बार कांग्रेस का मत प्रतिशत तो बढ़ा, लेकिन सीटों में आई गिरावट

National

बेंगलुरु: कर्नाटक विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का मत प्रतिशत तो बढ़ा लेकिन उसकी सीटें कम हो गई। विधानसभा के 2013 के चुनाव में जब कांग्रेस 122 सीटें जीतकर सत्ता में आई थी तब उसे 36.6 प्रतिशत वोट मिले थे, लेकिन इस चुनाव में उसे 38 प्रतिशत मत हासिल हुए। पार्टी का वोट प्रतिशत 1.4 फीसदी बढ़ गया लेकिन सीटों की संख्या 50 से कम हो गई। इसका कारण था बीजेपी के मत प्रतिशत का तेजी से बढ़ना।

येदियुरप्पा के अलग हो जाने और अपनी पार्टी बना लेने के कारण 2013 के चुनाव में बीजेपी को 20 प्रतिशत से भी कम वोट मिले थे लेकिन इस बार वोट प्रतिशत में तेजी से इजाफा हुआ। साल 2013 के चुनाव में बीजेपी 19.9 प्रतिशत ही वोट मिल सके थे और बीजेपी को 40 सीटें मिली थी। बीजेपी के वोट येदियुरप्पा के अलग हो जाने के कारण कम हो गए थे। इस चुनाव में बीजेपी के मत प्रतिशत में 16.8 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। इसीलिए बीजेपी के सत्ता में आ सकी है।

जेडीएस का भी गिरा मत प्रतिशत
‘किंग मेकर’ की भूमिका में आने का सपना संजो रही देवगौड़ा की पार्टी भी बसपा और अन्य दलों के साथ मिलकर चुनाव लड़ने के बावजूद अपना मत प्रतिशत बढा नहीं सकी। साल 2013 के चुनाव में जेडीएस को 20.2 प्रतिशत वोट मिले थे, जबकि इस बार उसे 17.7 प्रतिशत वोट ही मिल सके हैं। पार्टी के वोट प्रतिशत में 2.5 प्रतिशत की कमी आई है। हालांकि, वोट प्रतिशत कम होने के वाबजूद जेडीएस पिछले चुनाव की तरह 40 सीटें जीतती दिखाई दे रही है। इसका कारण बसपा और शरद पवार की राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और ओवैसी की पार्टी के साथ उसका मिलकर चुनाव लड़ना था।

The post कर्नाटक: इस बार कांग्रेस का मत प्रतिशत तो बढ़ा, लेकिन सीटों में आई गिरावट appeared first on NewsTrack.

Source: Hindi Newstrack