दोबारा जारी हो सकता है जेईई एडवांस का रिजल्ट

National
आईआईटी में दाखिले के लिए आयोजित की जाने वाली जेईई एडवांस्ड की इम्तिहान का परिणाम दोबारा जारी किया जा सकता है. ज्वाइंट एडमिशन बोर्ड (जैब) की तरफ से आईआईटीम में दाखिले के लिए हाई कटऑफ लागू करने से क्वालिफाई हुए विद्यार्थियों की संख्या 8 वर्ष में सबसे कम होने के चलते इस बार सीटें खाली रह जाने का खतरा पैदा हो गया है. इससे निपटने के लिए जैब की एक इमरजेंसी मीटिंग जेईई एडवांस्ड-2018 की आयोजक आईआईटी कानपुर की अध्यक्षता में बुधवार को बुलाई गई है, जिसमें दोबारा रिजल्ट पर निर्णय होगा.
Image result for दोबारा जारी हो सकता है जेईई एडवांस का रिजल्ट

आईआईटी से जुड़े वरिष्ठ ऑफिसर के मुताबिक, वीडियो कांफ्रेंसिंग से होने वाली इस मीटिंग में तय होगा कि कम कटऑफ के जरिए दोबारा रिजल्ट जारी कर क्वालिफाई विद्यार्थियों की संख्या बढ़ाई जाए या नहीं. यदि ऐसा हुआ तो ये उन विद्यार्थियों के लिए अच्छी खबर होगी, जो हाई कटऑफ के कारण क्वालीफाई नहीं हो पाए थे. लेकिन इन वरिष्ठ ऑफिसर के मुताबिक, इस बात को भी लेकर पसोपेश पैदा हो रहा है कि यदि दोबारा रिजल्ट जारी किया गया तो इससे आईआईटी को लेकर विद्यार्थियों  अभिभावकों का भरोसा टूटेगा, जो इसके स्टेट्स सिंबल को कम कर सकता है.

जेईई चेयरमैन प्रो शलभ ने बताया कि इमरजेंसी मीटिंग में रिजल्ट जारी होने की पूरी जानकारी दी जाएगी. जहां तक कम विद्यार्थियों के क्वालीफाई होने की बात है तो यह संभव नहीं है. इस बार सामान्य वर्ग के लिए 10 मार्क्स क्वालीफाइंग रखे गए थे. जबकि ओबीसी के लिए 9 और अन्य आरक्षित वर्ग के लिए पांच अंक थे. जितने विद्यार्थियों ने क्वालीफाइंग अंक या इससे अधिक हासिल किया है उन्हें क्वालीफाई कर दिया गया है. जो दस नंबर भी नहीं ला पाए हैं उन्हें क्वालीफाई कराने का कोई मतलब नहीं है.

बुलांएगे ‘बेटियों’ को आईआईटी देखने

सभी आईआईटी के सामने एक समस्या केंद्र गवर्नमेंट की तरफ से गर्ल्स सुपर न्यूमेरी कोटे के तहत अलावा आठ सौ सीट दिए जाना भी बना है. जेईई एडवांस्ड की मुश्किल इम्तिहान पास करने वाली दर्जनों छात्राओं ने आईआईटी की बजाय घर के पास के कॉलेज में दाखिला लेने की बात कही है. ऐसे में ये सीटें भी पूरी भर जाएं, इसके लिए सभी आईआईटी अपने-अपने जोन में क्वालिफाई होने वाली और अन्य छात्राओं को ऑरिएंटेशन कार्यक्रम के तहत अपना कैंपस आकर देखने के बाद प्रवेश पर फैसला लेने के लिए प्रेरित करेंगी.

ये है आंकड़ा
– 18,138 विद्यार्थी ही क्वालिफाई हुए हैं इस बार.
– 11,279 सीट हैं राष्ट्र की 23 आईआईटी में.
– 800 अलावा सीटें भी जोड़नी हैं इन सीटों में तो 12 हजार से ज्यादा सीट हो जाती हैं इस तरह प्रवेश के लिए.

इस कारण हो रही चिंता

दरअसल जेईई पास करने वाले बहुत सारे विद्यार्थी अन्य प्रतिष्ठित संस्थानों में प्रवेश ले लेते हैं या इंजीनियरिंग के लिए विदेश चले जाते हैं. इस बार प्रति सीट मात्र 1.6 विद्यार्थी का ही आंकड़ा है. ऐसे में यदि अन्य संस्थानों में जाने वालों की संख्या बढ़ी तो आईआईटी के लिए विद्यार्थी कम पड़ सकते हैं.

The post दोबारा जारी हो सकता है जेईई एडवांस का रिजल्ट appeared first on Poorvanchal Media | Breaking Hindi News| Current Hindi News| Latest Hindi News | National Hindi News | Hindi News Papers | Hindi News paper| Hindi News Website| Indian News Portal – Poorvanchalmedia.com.

Source: Purvanchal media