Health

निपाह को लेकर चौंकाने वाला खुलासा

केरल से प्रारम्भ हुआ अभी तक थमा नहीं है निपाह वायरस की चपेट में आने से अब तक 13 लोगों की मौत हो चुकी है लेकिन, निपाह को लेकर एक चौंकाने वाला खुलासा हुआ हैदरअसल, निपाह को लेकर यह बात सामने आई थी कि यह वायरस चमगादड़ की लार से फैलता हैचमगादड़ के चखे फलों से यह इंसान या जानवर में फैलता है लेकिन, ऐसा नहीं है जांच में यह बात सामने आई है कि निपाह वायरस का मुख्य कारण चमगादर नहीं है अधिकारियों ने केरल के कोझिकोड  मल्लपुरम में 13 जिंदगियां छीनने वाले निपाह वायरस के फैलने के पीछे चमगादड़ के होने की बात से मना कर दिया है

Image result for निपाह को लेकर चौंकाने वाला खुलासा

स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट
सेहत मंत्रालय के एक ऑफिसर ने बोला कि रिपोर्ट में निपाह वायरस फैलने में चमगादड़  सूअर के मूल स्रोत होने से मना किया गया है मेडिकल टीम अब निपाह वायरस फैलने के दूसरे संभावित कारणों का पता लगा रही है टीम ने कुल 21 नमूनों की जांच की थी, जिसमें से सात चमगादड़, दो सूअर, एक गोवंश  एक बकरी या भेड़ से था इन नमूनों में निपाह वायरस नहीं पाए गए हैं लेकिन, हम आपको बता दें, निपाह संसार का सबसे खतरनाक वायरस नहीं है बल्कि संसार में  भी ऐसे वायरस हैं जो मिनटों में मौत की नींद सुला देते हैं

ये हैं संसार के पांच सबसे खतरना वायरस

1. निपाह वायरस के भय से लोग फल खाने से बच रहे हैं इसे अब तक सबसे खतरनाक वायरस बताया जा रहा है लेकिन, संसार का सबसे खतरनाक वायरस मारबुर्ग वायरस है इस वायरस का नाम लान नदी पर बसे छोटे  शांत शहर पर है लेकिन, इसका बीमारी से कुछ लेना देना नहीं हैमारबुर्ग रक्तस्रावी बुखार का वायरस है इबोला की तरह इस वायरस के कारण मांसपेशियों के दर्द की शिकायत रहती है श्लेष्मा झिल्ली, स्कीन  अंगों से रक्तस्राव होने लगता है 90 प्रतिशत मामलों में मारबुर्ग के शिकार मरीजों की मौत हो जाती है

2. इबोला वायरस की पांच नस्लें हैं हर एक का नाम अफ्रीका के राष्ट्रों  क्षेत्रों पर रखा गया हैजायरे, सुडान, ताई जंगल, बुंदीबुग्यो  रेस्तोन जायरे इबोला वायरस जानलेवा है, इसके शिकार 90 प्रतिशत मरीजों की मौत हो जाती है इस नस्ल का वायरस फिल्हाल गिनी, सियरा लियोन लाइबिरिया में फैला हुआ है वैज्ञानिकों का कहना है कि शायद फ्लाइंग फॉक्स से यह शहरों में फैला होगा

3. तीसरे नंबर पर हंटा वायरस है हंटा वायरस के कई प्रकार का वर्णन है इस वायरस का नाम उस नदी पर रखा गया है जहां माना जाता है कि सबसे पहले अमेरिकी सैनिक इसकी चपेट में आए थे1950 के कोरियाई युद्ध के दौरान वह इसकी चपेट में आए थे इस वायरस के लक्षणों में फेफड़ों के रोग, बुखार  गुर्दा बेकार होना शामिल हैं

4. लस्सा वायरस से संक्रमित होने वाली पहली शख्स नाइजीरिया में एक नर्स थी यह वायरस चूहों गिलहरियों से फैलता है यह वायरस एक विशिष्ट एरिया में होता है, जैसे पश्चिमी अफ्रीका इसकी कभी भी पुनरावृत्ति हो सकती है वैज्ञानिकों का मानना है कि पश्चिम अफ्रीका में 15 प्रतिशतकतरने वाले जानवर इस वायरस को ढोते हैं

5. बर्ड फ्लू की विभिन्न नस्लें आतंक का कारण होती हैं क्योंकि, इसमें मृत्यु दर 70 प्रतिशत हैलेकिन, वास्तव में H5N1 नस्ल के वायरस के चपेट में आने का जोखिम बेहद कम होता है आप सिर्फ तभी इस वायरस के चपेट में आते हैं जब आपका संपर्क सीधे पोल्ट्री से होता है यही वजह है कि ऐसा बोला जाता है कि एशिया में ज्यादातर मामले क्यों सामने आते हैं वहां अक्सर लोग मुर्गियों के करीब रहते हैं

The post निपाह को लेकर चौंकाने वाला खुलासा appeared first on Poorvanchal Media | Breaking Hindi News| Current Hindi News| Latest Hindi News | National Hindi News | Hindi News Papers | Hindi News paper| Hindi News Website| Indian News Portal – Poorvanchalmedia.com.

Source: Purvanchal media

Samvadata
Samvadata.com is the multi sources news platform.
http://Samvadata.com