इस तरह प्रभावित होता है मनुष्य का शरीर

Lifestyle

यह बड़ी ही नॉर्मल बात है  सभी इसका एक्सपीरियंस कर चुके हैं कि मनुष्यों के प्राइवेट पार्ट्स का रंग ज़रा गहरा होता है बॉडी के बाकी अंगों की तुलना में मनुष्यों के गुप्तांगों का रंग थोड़ा गहरा होता है यानी काला होता है इनमें केवल प्राइवेट पार्ट्स ही शामिल नहीं है प्राइवेट पार्ट्स के आसपास के हिस्से जैसे इनर थाई  बट्स का रंग भी गहरे शेड का होता है प्राइवेट पार्ट्स मनुष्य के बेहद ही व्यक्तिगत अंग होते हैं, जिसे चाहे दिन हो या रात, अंडरआर्म हो, योनि या फिर आंतरिक जांघ इसे ढँक कर ही रखना होता है

Image result for इस तरह प्रभावित होता है मनुष्य का शरीर

देखा जाता है कि व्यस्तता के कारण अंडरगारमेन्ट्स को बहुत देर तक सूखा रख पाना बहुत मुश्किल उसी प्रकार से स्त्रियों के यूरीन करने के बाद उन्हें उनकी पैंटी को सूखा रख पाना एक तरह से असंभव ही रहता है डॉक्टर्स बताते हैं कि यदि महिलाएं दिन में 2-3 बार यदि पैंटी चेंज ना करें तो प्राइवेट की गन्दगी, नमी ओर लगातार रगड़ की वजह से प्राइवेट पार्ट्स काले हो जाते हैं

प्राइवेट पार्ट्स तो अच्छा है लेकिन रगड़ ओर नमी यदि निरंतर रहे तो इससे आंतरिक जाँघे भी काली हो जाती हैं युवावस्था में आते ही एक समय के बाद प्राइवेट पार्ट्स पर बाल आना प्रारम्भ हो जाते हैंबॉडी के बाकी हिस्सों की तुलना में यह बाल बहुत ज्यादा मज़बूत  काले होते हैं इनके इस तरह जटिल  काले होने के कारण भी गुप्तांग काले पढ़ने लगते हैं

The post इस तरह प्रभावित होता है मनुष्य का शरीर appeared first on Poorvanchal Media | Breaking Hindi News| Current Hindi News| Latest Hindi News | National Hindi News | Hindi News Papers | Hindi News paper| Hindi News Website| Indian News Portal – Poorvanchalmedia.com.

Source: pURVANCHAL MEDIA