उपभोक्ताओं पर महंगाई की दोहरी मार: खुदरा के बाद थोक दर भी बढ़ी

National

नई दिल्ली: देश में खुदरा महंगाई दर में बढ़ोतरी होने के बाद थोक महंगाई दर भी मई में बढ़ गई जिससे उपभोक्ताओं पर दोहरी मार पड़ी है। सरकार की तरफ से जारी डाटा के मुताबिक मई में थोक महंगाई दर 4.43 प्रतिशत पर पहुंच गई है जो अप्रैल में 3.18 प्रतिशत थी।

यह भी पढ़ें: अमेरिकी फेडरल रिजर्व ने ब्याज दरें बढ़ाईं

थोक महंगाई दर से पहले आए आंकड़ों के मुताबिक उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधार महंगाई मई में 4.87 प्रतिशत पर पहुंच गई जो अप्रैल में 4.58 प्रतिशत रही थी। खुदरा महंगाई दर बढ़ने के लिए सब्ज‍ियों और दालों के दाम में बढ़ोतरी को वजह बताया गया है।

कई चीजों की थोक महंगाई दर बढ़ी

मई महीने में खाने-पीने की चीजों की थोक महंगाई दर भी बढ़ी हैं महीने दर महीने के आधार पर मई में खाद्य थोक महंगाई दर 0.67 फीसदी से बढ़कर 1.12 फीसदी पर पहुंच गई है।

मैन्युफैक्चर्ड प्रोडक्ट्स की थोक महंगाई की बात करें, तो महीने दर महीने के आधार पर इसमें भी बढ़ोतरी हुई है जो  3.11 प्रतिशत से बढ़कर 3.73 प्रतिशत तक पहुंच गई है।

बिजली और ईंधन की थोक महंगाई महीने दर महीने आधार पर 7.85 प्रतिशत से बढ़कर 11.22 प्रतिशत हो गई है। अंडों, मांस और मछली की थोक महंगाई दर भी -0.2 फीसदी से बढ़कर 0.15 फीसदी पर पहुंच गई है जबकि मई में दालों की थोक महंगाई -22.46 फीसदी से बढ़कर -21.13 फीसदी पर पहुंच गई है।

आलू की थोक महंगाई 67.94 प्रतिशत से बढ़कर 81.93 प्रतिशत तक आ गई है लेकिन महीने दर महीने आधार पर मई में प्याज की थोक महंगाई दर 13.62 प्रतिशत से घटकर 13.20 प्रतिशत पर आ गई।

The post उपभोक्ताओं पर महंगाई की दोहरी मार: खुदरा के बाद थोक दर भी बढ़ी appeared first on Newstrack Hindi.

Source: Hindi Newstrack