National

‘देवदास’ जैसे ‘आशिकों’ पर बिलकुल फिट बैठती हैं ये शायरियां, पढ़ें यहां

चारू खरे

लखनऊ : कहते हैं कि अगर किसी से अपने दिल की बात कहनी हो तो ‘शायरियों’ से अच्छा माध्यम कुछ नहीं हो सकता शायरी, कविता ये सब कुछ ऐसी चीजें हैं, जिनके जरिये हम अपनी बात आसानी से दूसरों से कह सकते हैं।

हर रात इस ख्वाब में कटती है कि अगली सुबह तुम लौट आओगे... कहो कैसे समझाऊँ दिल को कि ये ख्याल भी एक खूबसूरत धोखा है 💖

आज के सृजन में न्यूज़ट्रैक.कॉम आपके लिए कुछ ऐसी ही शायरियां लेकर आया है, जो आशिकों के दिलों पर इश्तिहार तो आपके दिलों में प्यार जगाने का हुनर रखती हैं।

आज पूरी रात जागेंगी ये आँखे
पूरी रात जगाएंगे आज ख्वाब तेरे

बढ़ता जा रहा है बेहिसाब दर्द
शायद दिल ने आज फिर उसे याद कर लिया

आजकल नींद आने लगी है उसे मेरे बिना
शायद कोई और आजकल उसकी रातें सजा रहा है

सीखा नहीं है ये हुनर, बस सबका दिल रख लेती हूं 
कभी मन को मारती हूं, तो कभी ग़मों से समझौता कर लेती हूं...

कभी तो रख लिया करो हमारे गरीबखाने में कदम 
इतनी शिद्दत से करेंगे खातिरदारी तुम्हारी, कि यकीन न होगा कितने गरीब है हम....

दरअसल बुरा ये नहीं लगता कि 'लोग चले गए' 
बुरा तो ये लगता है कि बिन 'बताए चले गए'

किसी ने तो पूरी की ही होगी मेरी कमी
यूं ही तो नहीं मुझे भूल बैठे हो तुम....

 

The post ‘देवदास’ जैसे ‘आशिकों’ पर बिलकुल फिट बैठती हैं ये शायरियां, पढ़ें यहां appeared first on Newstrack Hindi.

Source: Hindi Newstrack

Samvadata
Samvadata.com is the multi sources news platform.
http://Samvadata.com