National

बंगलुरु टेस्ट: अफगान स्पिनरों पर हावी रहे भारतीय बल्लेबाज, खूब बनाए रन

बंगलुरु: अफगानिस्तान के अंतर्राष्ट्रीय टेस्ट स्तर पर पदार्पण से पहले उसके स्पिनरों को लेकर जितनी तारीफें थीं वो सभी भारत के खिलाफ खेले जा रहे इस मैच के पहले दिन तो गलत साबित हो गईं।

भारतीय बल्लेबाजों ने इस ऐतिहासिक टेस्ट मैच के पहले दिन गुरुवार का अंत होने तक अफगानिस्तान के स्पिनरों को जम कर थकाया और रन भी बटोरे। हालांकि अफगानी गेंदबाजों ने दिन के आखिरी सत्र में वापसी करते हुए भारत के चार विकेट चटका दिए। मेजबान टीम ने दिन का अंत 78 ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर 347 रनों के साथ किया।

दिन का खेल खत्म होने तक हार्दिक पांड्या 10 और रविचंद्रन अश्विन सात रन बनाकर विकेट पर खड़े हुए हैं। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम के बल्लेबाजों ने अफगानिस्तान की स्पिन तिगड़ी- राशिद खान, मुजीब उर रहमान और मोबम्मद नबी की जमकर धुनाई की उनके टेस्ट क्रिकेट में अनुभवहीन होने का फायदा उठाया।

बेंगलुरू टेस्ट : पहले दिन बनाए 6 विकेट पर 347 रन, अंतिम सत्र में अफगान ने दिखाया दम

शिखर धवन और मुरली विजय ने पारी की शुरुआत की और पहले सत्र में बिना कोई विकेट खोए 158 रन बना लिए थे। धवन भोजनकाल तक 104 रन बनाकर नाबाद थे। वह किसी भी टेस्ट मैच के पहले दिन पहले सत्र में शतक जड़ने वाले भारत के पहले और दुनिया के छठे बल्लेबाज बने। धवन और राशिद इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में एक ही टीम सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेलते हैं। ऐसे में राशिद के साथ खेलने का धवन ने खूब फायादा उठाया और राशिद को लाइन और लैंग्थ पकड़ने नहीं दी।

धवन ने यही हाल मुजीब का किया। धवन ने इन दोनों पर आगे बढ़ कर भी शॉट लगाए और क्रिज के बेहतरीन इस्तेमाल भी किया। स्पिनरों को सफल होता न देख दिन के दूसरे सत्र में कप्तान असगर स्टानिकजाई ने अपने तेज गेंदबाज यमिन अहमदजाई को वापस बुलाया और उन्होंने स्लिप में धवन को नबी के हाथों कैच कर अफगानिस्तान को पहला टेस्ट विकेट दिलाया। विजय और धवन ने पहले विकेट के लिए 168 रनों की साझेदारी की। धवन ने 96 गेंदों में 19 चौके और तीन छक्कों की मदद से 107 रन बनाए।

धवन जब तक थे विजय शांत थे, लेकिन उनके जाने के बाद विजय ने भी थोड़ा तेज खेला खेला। वहीं नंबर-3 पर बल्लेबाजी करने आए लोकेश राहुल ने भी अच्छी तरह स्ट्राइक को रोटेट किया। दूसरा सत्र खत्म होने के कुछ देर पहले ही बारिश आ गई। विजय उस समय अपने 12वें शतक से चार रन दूरे थे। कुछ देर बाद बारिश रूकी और खेल शुरू हुआ लेकिन कुछ ओवरों बाद बारिश ने फिर दस्तक दी और मैच रोका गया।

#INDvsAFG: सैकड़ा जड़ते ही ‘गब्बर’ ने हासिल की नई उपलब्धि, बने पहले भारतीय

मैच समाप्ति से कुछ देर पहले बारिश रूकी और विजय ने आते ही अपना शतक पूरा किया। शतक पूरा करने के बाद हालांकि वह ज्यादा देर रूक नहीं सके और वफादार की गेंद पर 280 के कुल स्कोर पर बोल्ड हो गए। विजय ने 153 गेंदों में 15 चौके और एक छक्के की मदद से शतकीय पारी खेली। राहुल भी अर्धशतक पूरा करने के बाद 284 के कुल स्कोर पर अहमदजाई का दूसरा शिकार बने।

कप्तान अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा ने धीमी बल्लेबाजी की लेकिन मेहमान टीम को हावी नहीं होने दिया। इस मैच से पहले स्टार माने जा रहे राशिद को आखिरकार एक सफलता 67वें ओवर में मिली। उनकी गुगली रहाणे के पैड पर लगी लेकिन अंपायर ने उन्हें नॉट आउट दिया। राशिद ने रिव्यू लिया और अपना पहला टेस्ट विकेट रहाणे के रूप में हासिल किया। रहाणे ने 45 गेंदों में 10 रन बनाए। यहां अफगानी गेंदबाजों ने रन भी रोके और विकेट भी लिए।

पुजारा को स्लिप में नबी ने राशिद की गेंद पर 69वें ओवर की दूसरी गेंद पर जीवनदान भी दिया। हालांकि वह 328 के कुल स्कोर पर मुजीब का पहला टेस्ट शिकार बने। पुजारा ने 52 गेंदों में छह चौकों की मदद से 35 रन बनाए। दिनेश कार्तिक दुर्भाग्यवश 334 के कुल स्कोर पर रन आउट हो गए। उन्होंने 22 गेंदों में महज चार रन बनाए।

राशिद ने एक विकेट लेने के लिए 26 ओवर फेंके और 120 रन दिए । वहीं मुजीब ने 14 ओवरों में 69 रन देकर एक विकेट लिया। नबी ने सिर्फ आठ ओवर डाले और 45 रन दिए। उन्हें एक भी विकेट नहीं मिला। अहमदजाई ने 16 ओवरों में महज 32 रन देकर दो विकेट लिए। वफादार ने 15 ओवरों में 53 रन देकर एक विकेट लिया।

The post बंगलुरु टेस्ट: अफगान स्पिनरों पर हावी रहे भारतीय बल्लेबाज, खूब बनाए रन appeared first on Newstrack Hindi.

Source: Hindi Newstrack

Samvadata
Samvadata.com is the multi sources news platform.
http://Samvadata.com