मुन्ना बजरंगी मर्डर: डरा सहमा है माफिया जगत, बैरक से नहीं निकले मुख्तार 

National

लखनऊ:  बागपत जेल में माफ़िया डॉन प्रेम प्रकाश सिंह उर्फ़ मुन्ना बजरंगी की हत्‍या के बाद माफिया जगत में खलबली है। इस हत्याकाण्ड ने माफियाओं के साथ बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी की नींद भी उड़ा दी है। मुन्ना की हत्‍या के बाद बाँदा जेल में बंद मुख्तार अंसारी पिछले तीन दिनों से बैरक से नहीं निकले हैं। जेल बदले जाने की ख़बर से ही अपराधियों की रूह काँप जा रही है। हमीरपुर जेल में बंद सुन्दर भाटी ने ग़ाज़ियाबाद में पेशी पर जाने से इंकार कर दिया है। मुन्ना बजरंगी की हत्‍या के बाद जेल में बंद माफियाओं की रात करवटें लेते गुज़र रही हैं। दहशतज़दा बाहुबली माफियाओं में बृजेश सिंह, बबलू श्रीवास्तव और अतीक अहमद शामिल हैं।

करवटें बदलते गुज़री रात, डरे सहमे हैं बाहुबली विधायक 

माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी की बागपत जेल में हत्‍या के बाद माफिया जगत में तूफ़ान से पहले वाली शान्ति है। बाहुबली बसपा विधायक मुख्तार अंसारी मार्च 2017 से बाँदा जेल में बंद हैं। 9 जनवरी 2018 को बाँदा जेल में ही मुख्तार अंसारी और उन की पत्नी को दिल का दौरा पड़ने के बाद पीजीआई में भर्ती कराया गया था। मुख्तार अंसारी और वाराणसी जेल में बंद बृजेश सिंह के बीच वर्चस्व की लड़ाई पुरानी है। दोनों एक दूसरे के जानी दुश्मन माने जाने हैं। मुन्ना बजरंगी की हत्‍या के बाद मुख्तार अंसारी गुट कमज़ोर हुआ है। मुन्ना बजरंगी की हत्‍या के बाद मुख्तार अंसारी भी ख़ौफ़ज़दा हैं। बाँदा जिला जेल के जेलर वी एस त्रिपाठी ने बताया कि मुख्तार अंसारी को बैरक नंबर 15 और 16 में रखा गया है। पिछले तीन दिनों से मुख्तार अंसारी अपनी बैरक से न तो बाहर निकले हैं और न ही किसी से मुलाक़ात की है। यही नहीं अंसारी ने ठीक से खाना भी नहीं खाया है। बाँदा जेल में पिछले दो दिनों में सघन चेकिंग अभियान भी चलाया गया है। मुख्तार अंसारी की बैरक के आसपास किसी को भी जाने की परमिशन नहीं है। सुरक्षा के मद्देनज़र बंदी रक्षकों को अंसारी की बैरक के क़रीब जाने की भी इजाज़त नहीं है।

जेल में बंद बाहुबली माफियाओं की नींद हुई हराम 

मुन्ना बजरंगी की जेल में ह्त्या के बाद से जेलों में बंद बाहुबली माफियाओं की नींद हराम है। बरेली की सेन्ट्रल जेल में बंद बबलू श्रीवास्तव, वाराणसी जेल में बंद बृजेश सिंह, देवरिया जेल में बंद पूर्व साँसद अतीक़ अहमद, सुल्तानपुर जेल में बंद मुबारक खान और फतेहगढ़ जेल में बंद सुभाष ठाकुर भी डरे सहमे बताये जा रहे हैं। मुन्ना बजरंगी की हत्‍या के बाद से मुख्तार अंसारी के ख़ास गुर्गों में शुमार में लखनऊ के हार्ड कोर क्रिमिनल रुस्तम, सलीम और सोहराब भी डरे हुए हैं। तीनों भाई दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद हैं। सलीम ने जेल से वीडियो जारी कर पुलिस पर अपनी व अपने भाइयों की ह्त्या की साज़िश रचने का आरोप लगाया था।

एडीजी जेल बोले चाक चौबंद हैं सुरक्षा व्यवस्था 

एडीजी जेल चंद्रप्रकाश ने बताया कि जेलों में बंद बंदियों की सुरक्षा के लिए प्रदेश भर की जेलों में सघन चेकिंग अभियान चलाया गया है। सीसीटीवी के ज़रिए बंदियों की निगरानी की जा रही है। जेल के अंदर और जेल के बाहर की सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद की जा रही है। जेल के गेट पर पुलिस के साथ ही पीएसी के जवानों को तैनात करने को कहा गया है। जेल में बंदियों से आने वाले मुलाकातियों पर भी नज़र रखने के निर्देश जारी किये गए हैं।

The post मुन्ना बजरंगी मर्डर: डरा सहमा है माफिया जगत, बैरक से नहीं निकले मुख्तार  appeared first on Newstrack Hindi.

Source: Hindi Newstrack