पाक की नयी गवर्नमेंट दक्षिण एशिया को बनाएगी आतंक मुक्त

International
हिंदुस्तान ने चुनावों में सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरने के बाद क्रिकेटर से राजनेता बने इमरान खान के पहले सम्बोधन पर सकारात्मकता रिएक्शन दी है. शनिवार को हिंदुस्तान ने उम्मीद जताई कि पाक की नयी गवर्नमेंट एक सुरक्षित, स्थिर, मजबूत  विकसित दक्षिण एशिया को आतंक हिंसा से मुक्त बनाने के लिए रचनात्मक रूप से कार्य करेगा.
Image result for पाक की नयी गवर्नमेंट

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने इस बात का स्वागत किया कि पाक के लोगों ने आम चुनावों के जरिए लोकतंत्र पर अपना विश्वास जताया है. यह बात इसलिए भी जरूरी है क्योंकि हिंदुस्तान के कुछ लोगों का मानना है कि इमरान खान जोकि पाक में गवर्नमेंट बनाने वाले हैं, वह पाकिस्तानी सेना की कठपुतली हैं. यहां तक बोला जा रहा है कि पाकिस्तानी सेना ने उनके पक्ष में मतदान करवाने के लिए हेरफेर किया है.

कुमार ने कहा, ‘भारत अपने पड़ोसियों के साथ शांति के साथ ही समृद्ध  प्रगतिशील पाक चाहता है.‘खान ने नयी दिल्ली का जिक्र करते हुए बोला था कि यदि हिंदुस्तान पाक के साथ शांति के लिए एक कदम बढ़ाएगा तो वह दो कदम बढ़ाने के लिए तैयार हैं. हिंदुस्तान में मौजूद पाक के उच्चायोग सोहेल मपहमूद ने बोला कि खान की जात दोनों राष्ट्रों के लिए अपने संबंध सुधारने का मौका है.

महमूद ने बोला कि यह ऐसा समय है जब द्वीपक्षीय संबंधों में पुरानी बातों को भुला दिया जाए.हिंदुस्तान पाकिस्तानी सेना की मंशा को लेकर अनिश्चित है  उसे यह भी नहीं पता कि खान गवर्नमेंट का आतंक पर क्या रवैया होगा जोकि हिंदुस्तान की चिंता का सबसे बड़ा सबब है.

आधिकारिक सूत्रों ने बोला कि इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि लोकतांत्रिक प्रक्रिया के जरिए खान की तहरीक-ए-इंसाफ सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी है. एक सूत्र ने कहा, ‘हमारा कार्यकिसी का पक्ष लेने का नहीं है. हम पाक के लोगों के निर्णय की इज्जत करते हैं. यह हकीकत है कि इमरान खान को लोगों का समर्थन मिला है.

Source: Purvanchal media