हाफिज सईद को पाकिस्तानी जनता ने चटाई धूल

International

पाकिस्तानी मतदाताओं ने हाल में हुए राष्ट्र के आम चुनाव में मुंबई आतंकवादी हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद समर्थित अल्लाह-ओ-अकबर तहरीक सहित सभी आतंकवादी एवं प्रतिबंधित समूहों को सिरे से नकार दिया पाक के चुनाव आयोग ने आम चुनाव के अंतिम नतीजे घोषित कर दिए जिनके अनुसार अल्लाह-ओ-अकबर पार्टी के सारे उम्मीदवार चुनाव पराजय गएचुनाव नतीजों से पता चलता है कि पार्टी के उम्मीदवारों को जबकि राष्ट्र में 10 करोड़ से ज्यादा पंजीकृत मतदाता हैं  चुनाव में 50 फीसदी से ज्यादा मतदान हुआ यानि पांच करोड़ से ज्यादा वोट डाले गए इमरान खान की पाक तहरीक-ए-इंसाफ ने 270 सीटों पर चुनाव लड़ा था  116 सीटें जीतकर सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी

Image result for हाफिज सईद को पाकिस्तानी जनता ने चटाई धूल

एक भी आतंकवादी को नहीं मिली जीत
एक  आतंकवादी पार्टी तहरीक-ए-लब्बैक पाक (टीएलपी) ने नेशनल एसेंबली की 150  प्रांतीय सभाओं की 100 से ज्यादा सीटों पर उम्मीदवार खड़े किए थे उसके उम्मीदवारों को 21,91,679 वोट मिले हालांकि उसके दो उम्मीदवार सिंध की प्रांतीय सभा में निर्वाचित होने में पास रहेनरमपंथी इस्लाम का प्रचार कर रहे दलों ने मुत्तहिदा मजलिस-ए-अमाल पाक (एमएमएपी) के तत्वाधान में चुनाव लड़ा था

धार्मिक नेताओं को जनता ने नकारा
उन्हें नेशनल असेंबली में कुल 13 सीटें मिलीं  25,30,452 वोट मिले कुल वोटों के लिहाज से एमएमएपी पांचवीं सबसे बड़ी पार्टी है जबकि टीएलपी छठे जगह पर रही चुनाव आयोग के नतीजे के अनुसार जमायत उलेमा-ए-इस्लाम सामी (जेयूआई-एस) को महज 24,559 वोट मिले चुनाव लड़ने वाले दूसरे धार्मिक दलों का प्रदर्शन बेकार रहा

चुनाव आयोग ने बताया कि तहरीक-ए-लब्बैक इस्लाम को 68,022, मजलिस-ए-वहदात-ए-मुस्लिमीन पाक को 9,606, सुन्नी इत्तेहाद काउंसिल को 5,939 वोट मिले आतंकवादियों से सीधे सीधे जुड़े सैकड़ों लोगों के चुनाव प्रचार करने को लेकर पाक को राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय मीडिया, मानवाधिकार समूहों एवं नेताओं की आलोचना का सामना करना पड़ा था पाक के मतदाताओं ने आतंकवादियों या प्रतिबंधित समूहों से जुड़े उम्मीदवारों को खारिज करते हुए मुख्यधारा की पॉलिटिक्स का भाग बनने की उनकी कोशिशें नाकाम कर दीं

इमरान खान की पीटीआई 116 सीटों के साथ बनी सबसे बड़ी पार्टी
पाक चुनाव आयोग की ओर से आज जारी किए गए अंतिम नतीजों के मुताबिक इमरान खान की पार्टी पाक तहरीक-ए-इंसाफ आम चुनावों में 116 सीटें हासिल कर सबसे बड़ी पार्टी बन गई हैनेशनल असेंबली की कुल 270 सीटों पर चुनाव हुए थे बीते 25 जुलाई को हुए मतदान के बाद वोटों की धीमी गिनती  चुनावों में धांधली के आरोपों के बीच आयोग ने अंतिम नतीजों का ऐलान कियाचुनाव आयोग को वोटों की गिनती कराने में दो दिन से ज्यादा का वक्त लग गया

पाकिस्तान चुनाव आयोग (ईसीपी) के अनुसार, संसद के निचले सदन नेशनल असेंबली के लिए हुए चुनावों में पीटीआई ने 116 सीटें जीतकर अपनी स्थिति बहुत ज्यादा मजबूत कर ली है करप्शन के आरोप में कारागार में बंद पाक के पूर्व पीएम नवाज शरीफ की पार्टी पाक मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) 64 सीटों के साथ दूसरे नंबर पर जबकि पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी की पाकपीपुल्स पार्टी (पीपीपी) 43 सीटों के साथ तीसरे पायदान पर है

मुत्ताहिदा मजलिस-ए-अमल (एमएमएपी) 13 सीटों के साथ चौथे जगह पर रही 13 निर्दलीय उम्मीदवारों ने भी जीत दर्ज की है, जिनकी किरदार अहम होगी क्योंकि पीटीआई को केंद्र में गवर्नमेंटबनाने के लिए उनके समर्थन की आवश्यकता होगी

16,857,035 वोटों के साथ पीटीआई पहले, 12,894,225 वोटों के साथ पीएमएल-एन दूसरे 6,894,296 वोटों के साथ पीपीपी तीसरे पायदान पर है चुनाव आयोग ने बोला कि वोटरों की ओर से डाले गए कुल वोटों के लिहाज से निर्दलीय उम्मीदवार चौथे सबसे बड़े समूह के तौर पर उभरे हैं  उन्हें कुल 6,011,297 वोट मिले हैं बहरहाल, इमरान की पीटीआई को साधारण बहुमत के लिए महत्वपूर्ण 137 सीटें नहीं मिल पाई

Source: Purvanchal media