एंटीबायोटिक्स संसार में सबसे ज्यादा दी जाने वाली कुछ दवा के बारे में जान ले आप

Health

हिंदुस्तान सहित कई राष्ट्रों में एंटीबायोटिक दवाओं की आपूर्ति बढ़ने से वैश्विक स्तर पर एंटीबायोटिक का प्रभाव बुरी तरह बेअसर होता जा रहा है ऐसा एक शोध में सामने आया है, जिसमें कानून को बेहतर तरीके से तत्काल लागू करने की आवश्यकता बताई गई है शोध में पाया गया है कि 2000 और 2010 के बीच एंटीबायोटिक्स का उपभोग वैश्विक रूप से बढ़ा है  यह 50 अरब से 70 अरब मानक इकाई हो गया है इसके प्रयोग में वृद्धि में प्रमुख रूप से भारत, चीन, ब्राजील, रूस औरदक्षिण अफ्रीका में हुई है

Image result for एंटीबायोटिक्स संसार में सबसे ज्यादा दी जाने वाली दवा

ऑस्ट्रेलिया के क्वींसलैंड प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के इमानुएल एडेवुयी ने कहा, “एंटीबायोटिक दवाओं का अत्यधिक प्रयोग एंटीबायोटिक के प्रतिरोध के फैलाव और विकास को सुविधाजनक बना सकता है  उदाहरण के लिए करीब 57,000 नवजात सेप्सिस की मौतें एंटीबायोटिक प्रतिरोधी संक्रमण के कारण होती हैं.

इससे अमेरिका में सलाना 20 लाख संक्रमण और 23,000 मौतें होती हैं  यूरोप में हर वर्ष करीब 25,000 मौतें होती हैं एडेयुवी ने कहा, “विकासशील राष्ट्रों में एंटीबायोटिक प्रतिरोधी संक्रमण के भरोसेमंद अनुमानों की कमी है, लेकिन माना जाता है कि इन राष्ट्रों में कई  मौतों का कारण बनती हैं.“इस शोध का प्रकाशन ‘द जर्नल ऑफ इंफेक्शन’ में किया गया है  इसमें 24 राष्ट्रों के शोध का विश्लेषण किया गया है

Source: Purvanchal media